गोरखपुर टेरर फंडिंग केस: ATS ने मोबाइल शॉप पर मारा छापा, मालिक से की पूछताछ

गोरखपुर: यूपी के गोरखपुर जिले में टेरर फंडिंग के मामले में आतंकवादी निरोधक दस्ते (ATS) ने छापेमारी की कार्रवाई की है. लगभग तीन साल पुराने इस केस में ATS ने गोलघर इलाके में स्थित एक मोबाइल फोन की दुकान पर रेड मारी. पुलिस अधीक्षक (नगर) सोनम कुमार ने ATS द्वारा मारे गए छापे की पुष्टि की है. उन्होंने बताया है कि ATS ने मोबाइल फोन की दुकान पर पहुंच कर वहां के कर्मचारियों को बाहर जाने के लिए कहा और दुकान के अंदर उसके मालिक से पूछताछ की. बता दें कि एटीएस ने वर्ष 2018 में भी इस दुकान पर रेड मारी थी.

सोनम कुमार ने बताया कि ATS ने टेरर फंडिंग के मामले में यह रेड मारी है. हालांकि उन्होंने यह कहते हुए इस बारे में और अधिक जानकारी देने से इंकार कर दिया कि विस्तृत विवरण ATS से ही मिलेगा. एटीएस ने 25 मार्च 2018 को भी इस मोबाइल की दुकान तथा उससे संबंधित तीन स्थानों पर छापा मारा था और उस समय दुकान के मालिक रहे नईम अहमद के बेटों अरशद और नदीम को गिरफ्तार किया था. लगभग चार महीने बाद दोनों को जमानत मिल गई थी.

दूसरी ओर भारत-नेपाल सीमा पर सुरक्षा को लेकर खुफिया एजेंसियां और पुलिस विभाग पूरी तरह से सतर्क है. बॉर्डर पर संदिग्‍ध गति‍विधियों के साथ 300 से ज्यादा मदरसों के अस्तित्‍व और उनके क्रियाकलापों पर भी खुफिया ऐजेंसियों की निगाह है. बार्डर के पास अचानक अस्तित्‍व में आए इन मदरसों और मस्जिदों की आवश्यकता और उनके आमदनी के स्रोत का आधार पता नहीं होने से खुफिया एजेंसियों के कान खड़े हो गए हैं. ऐसे में अब इनकी हर तरह से तफ्तीश की जा रही है.

एक बार भी शेयर बाजार में देखने को मिला उतार- चढ़ाव

पहले 9 महीनों के दौरान बाजार से 43.5 प्रतिशत से अधिक लिया गया ऋण

वेदांत के प्रवर्तकों ने कर्ज लेने के लिए USD1.4-bn जुटाए

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -