हाईजैकर के सामने खड़े हो कर 48 लोगों की जान बचा चुके है अटल बिहारी वायपेयी

हाईजैकर के सामने खड़े हो कर 48 लोगों की जान बचा चुके है अटल बिहारी वायपेयी

नई दिल्ली। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया है। लंबे समय से बीमार चल रहे 93 वर्षीय अटल जी पिछले दो महीनों से नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) अस्पताल में भर्ती थे। 

एक दौर ऐसा भी था जब अटल जी के हौसले और हिम्मत भी 'अटल' थी। उनकी हिम्मत के कई किस्से देश भर में मशहूर है जिनमे से एक किस्सा ये भी है की उन्होंने कैसे एक हाईजैकर के सामने खड़े हो कर 48 लोगों की जान बचाई थी। 

पर्दे पर भी दिखाई देंगे अटल बिहारी वाजपेयी

दरअसल यह पूरा मामला 22 जनवरी 1992 का है जब लखनऊ से दिल्ली जा रहे इंडियन एयरलाइंस के विमान को उड़ान भरने के 15 मिनट बाद ही हाइजैक कर लिया गया गया था। इस विमान को हाईजैक करने वाले शख्स ने विमान को लखनऊ हवाई अड्डे पर वापस ले जाने के लिए कहा और उस वक्त की विपक्षी पार्टी  भाजपा के बड़े नेता अटल बिहारी वायपेयी से मिलने की मांग की। इसके साथ ही उसने धमकी दी की यदि मुलाकात नहीं कराई गई तो वह विमान को बम से उड़ा देगा। 

 

 

इस दौरान अटल जी लखनऊ में ही थे और यह खबर मिलते ही तुरंत एयरपोर्ट पर पहुंच गए। सुरक्षा बलों की तमाम चेतावनियों के बावजूद अटल जी प्लेन में गए और उस आदमी के सामने जा कर खड़े हो गए। इसके बाद जैसे ही हाईजैकर वाजपेयी के पैर छूने के लिए आगे आया सुरक्षाबलों ने उसे पकड़ लिया। 

ख़बरें और भी 

मोदी और वायपेयी का रिश्ता, CM बनाने के ल‍िए शमशान से फोन कर बुलाया था

अटल बिहारी वाजपेयी की कविता में नज़र आये शाहरुख़ खान

 

त्रिपुरा के राज्‍यपाल ने अटल बिहारी के निधन से पहले ही दे दी श्रद्धांजलि, हंगामा होने पर मांगी माफी

 

?