सोते समय मोबाइल फोन को कितनी दूरी पर रखना चाहिए? जानिए एक्सपर्ट्स की राय

सोते समय मोबाइल फोन को कितनी दूरी पर रखना चाहिए? जानिए एक्सपर्ट्स की राय
Share:

स्मार्टफोन के युग में, हम सभी अत्यधिक फोन उपयोग के असंख्य दुष्प्रभावों से अवगत हैं। हालाँकि, क्या आपने कभी अपने तकिए के नीचे फोन रखकर सोने के खतरों के बारे में सोचा है? अगर आप इस आदत के दोषी हैं, तो इसे बदलने का समय आ गया है...

आपको अपना मोबाइल फोन कितनी दूर रखना चाहिए?
सोते समय अपने मोबाइल फोन को दूसरे कमरे में रखना उचित है। वैकल्पिक रूप से, यदि आप चाहें, तो आप अपने फोन को उस बिस्तर के विपरीत दिशा में एक टेबल पर रख सकते हैं जिस पर आप सो रहे हैं। हालाँकि, अपने फोन को तकिए के नीचे रखने के संभावित खतरों को जानने के बाद आपको इस आदत को सुधारने के लिए प्रेरित होना चाहिए।

तनाव - अपने फोन को अपने बगल में रखकर सोने से तनाव हो सकता है। आपके मोबाइल डिवाइस से निकलने वाली रेडिएशन आपके मस्तिष्क की मांसपेशियों को भी नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है।

चिंता - यह ध्यान देने योग्य है कि तनाव का बढ़ा हुआ स्तर अक्सर चिंता और अवसाद जैसी गंभीर स्थितियों को जन्म देता है। ऐसे मानसिक स्वास्थ्य मुद्दों से खुद को बचाने के लिए, सोते समय अपने फोन से दूरी बनाना शुरू करें।

नींद की गुणवत्ता में कमी - अपने फोन को एयरप्लेन मोड पर स्विच न करने से लगातार नोटिफिकेशन की आवाज़ के कारण आपकी नींद की गुणवत्ता में बाधा आ सकती है। अच्छी नींद सुनिश्चित करने के लिए, अपने फोन को अपने बगल में रखकर सोने की अपनी आदत में बदलाव करें।

सर्वाइकल संबंधी समस्याएँ - जब आपका फोन आपके तकिए पर रखा होता है, तो आप इसे गलत मुद्रा में इस्तेमाल करने की अधिक संभावना रखते हैं। इससे आपको सर्वाइकल संबंधी समस्याएँ होने की संभावना हो सकती है।

माइग्रेन - अपने फोन को अपने बगल में रखकर सोने से माइग्रेन होने की संभावना बढ़ जाती है। अपने संपूर्ण स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए, सोते समय अपने फोन को अपने पास रखने से बचना सबसे अच्छा है।

निष्कर्ष के तौर पर, अपने फोन को अपने तकिए के नीचे रखकर सोने की आदत आपके स्वास्थ्य के लिए कई तरह के जोखिम पैदा करती है, जिसमें तनाव, चिंता, नींद की गुणवत्ता में कमी, सर्वाइकल संबंधी समस्याएँ और माइग्रेन शामिल हैं। इस आदत को छोड़ना और अपनी सेहत के लिए स्वस्थ नींद की आदतें अपनाना बहुत ज़रूरी है।

सोते समय खुद से इतनी दूरी बनाकर रखें अपना मोबाइल फोन, समय रहते जान लें वरना भुगतने पड़ सकते हैं अंजाम

स्टील-एल्युमिनियम छोड़ इन बर्तनों को पकड़ें, आपका किचन बन जाएगा पूरी तरह इको-फ्रेंडली

अगर गर्मियों में खाना आसानी से नहीं पचता तो परेशान न हों, ये लाइफस्टाइल करेगी आपकी मदद

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -