बरसात में बढ़ सकता है अस्थमा रोगियों के लिए खतरा

बरसात में बढ़ सकता है अस्थमा रोगियों के लिए खतरा

बरसात के इस मौसम में इन्फेक्शन और वायरल बुखार का डर तो बना ही रहता हैं. बरसात के दिनों में आपको अपनी सेहत का खास ध्यान देना पड़ता है. लेकिन इसी के साथ ही ये दिन अस्थमा रोगियों के लिए भी घातक साबित होते हैं. अगर आपके साथ कुछ ऐसा हो रहा है तो जरा सतर्क हो जाएं, ये आपके लिए बेहद घातक हो सकता है. आज हम आपको कुछ ऐसे ही घरेलू नुस्खों की जानकारी देने जा रहे हैं जो आपको अस्थमा में राहत दिलाने का काम करेंगे.  

पीपल के पत्ते
पीपल के पत्तों को सूखा कर जलाएं और फिर इसे छानकर शहद मिक्स करें. दिन में 3 बार इसे चाटने से अस्थमा जड़ से 
खत्म हो जाएगी

बड़ी इलायची
बड़ी इलायची, खजूर, अंगूर और शहद को बराबर मात्रा में मिलाकर रोजाना खाएं. इससे अस्थमा के साथ पुरानी खांसी से भी आराम मिलेगा.

सोंठ
सोंठ, सेंधा नमक, जीरा, भुनी हुई हींग और तुलसी के पत्ते को पीसकर 1 कप पानी में उबाल लें. रोजाना इसका सेवन करने से आपको आराम मिलेगा.

मेथी के दाने
मेथी के दानों को 1 कप पानी में तब तक उबालें जब तक वो आधा ना रहे जाए. फिर उसमें शहद व अदरक मिलाकर रोज पिएं. इससे आप अस्थमा की समस्या से राहत मिलेगी.

आंवला पाउडर
अस्थमा अटैक से बचने और इसे जड़ से खत्म करने के लिए 2 टीस्पून आंवला पाउडर और 1 टीस्पून शहद मिलाकर सुबह खाली पेट रोजाना पिएं.

पालक और गाजर
पालक और गाजर के रस को मिलाकर रोजाना पीने से भी अस्थमा की समस्या दूर होती है.

तेजपत्ता
अस्थमा से राहत पाने के लिए तेजपत्ता और पीपल के पत्ते की 2 ग्राम मात्रा को पीसकर मुरब्बे की चाशनी से साथ खाएं.

सूखी अंजीर
सूखी अंजीर के 4 दाने रात को पानी में भिगो दें. सुबह खाली पेट इसे पीसकर खाने से अस्थमा के साथ कब्ज भी दूर हो जाएगी.

घर में प्रदुषण से कैसे करें खुद का बचाव

पेट की परेशानी में चॉकलेट हो सकती है नुकसानदायक

प्रेगनेंसी में मचलाता है जी तो घरेलु तरीकों से पाएं आराम