अतिक्रमण हटाने के दौरान खूनी संघर्ष, 2 लोगों की मौत, लगभग 10 घायल

गुवाहाटी: असम के दरांग जिले में अतिक्रमण हटाने के दौरान एक बार फिर बड़ा संघर्ष हुआ है। लगभग 800 परिवारों के पुनर्वास को लेकर हुए प्रदर्शन के दौरान पुलिस गोलीबारी में दो लोगों के मारे जाने की खबर है। वहीं प्रदर्शन में पत्थरबाज़ी और हिंसा के चलते कई पुलिसकर्मी भी गंभीर रूप से जख्मी हो गए हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच ये संघर्ष तब हुआ, जब एक स्पेशल टीम अतिक्रमण हटवाने के लिए गई थी। कम से कम 10 लोग जख्मी बताए जा रहे हैं। घायलों में अधिकतर पुलिसकर्मी हैं। घायलों में कई की हालत बेहद गंभीर बताई जा रही है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बड़ी तादाद में लोग असम के दरांग जिला प्रशासन की तरफ से बेदखल किए गए 800 परिवारों के पुनर्वास की माँग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। बेदखल किए गए परिवारों ने सिपझार में विरोध प्रदर्शन शुरू किया था। प्रदर्शनकारियों की माँग थी कि बेदखली को रोका जाए और उन्हें एक व्यापक पुनर्वास पैकेज दिया जाए। तभी अचानक प्रदर्शनकारियों और पुलिस बल के बीच संघर्ष शुरू हो गया। बाद में पुलिस बल द्वारा की गई गोलीबारी में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि कम से कम 10 अन्य गंभीर रूप से जख्मी हो गए।

सीएम हिमंता बिस्वा सरमा ने इस मामले पर कहा है कि, 'पुलिस ने आत्मरक्षा में गोलियाँ चलाईं। इसमें दो आम नागरिकों की जान चली गई। हिंसा में कई पुलिसकर्मी गंभीर रूप से जख्मी हैं, इनमें अस्टिटेंट सब इंस्पेक्टर मोनिरुद्दीन की स्थिति नाजुक बताई जा रही है। उन्हें गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज शिफ्ट कर दिया गया है। मृतकों की शिनाख्त सद्दाम हुसैन और शेख फरीद के रूप में हुई है।'

डीजल की कीमतों में आया उछाल, जानिए पेट्रोल का हाल

अब दिव्यांगों का होगा घर बैठे वैक्सीनेशन

डेंगू के बढ़ते मामलों को लेकर केंद्र सरकार ने राज्यों में जारी किया अलर्ट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -