स्पोर्ट्स जगत में पसरा मातम, सुभाष भौमिक ने दुनिया को कहा अलविदा

फॉर्मर इंडिया फुटबॉलर सुभाष भौमिक (Subhash Bhowmick) का शनिवार को कोलकाता में देहांत हो चुका है. 71 वर्ष के सुभाष 1970 में हुए एशियन गेम्स (Asian Games) में ब्रॉन्ज मेडलिस्ट टीम का भाग थे. उन्होंने अपने इंटरनेशनल करियर में बतौर खिलाड़ी और कोच ने बहुत सफलता प्राप्त कर ली है. एआईएफएफ (AIFF) ने शनिवार को इसकी आधिकारिक पुष्टि की और सुभाष को श्रद्धांजलि भी दे दी है. उन्होंने ट्विटर पर इसकी सूचना जारी कर दी है.

भौमिक का जन्म 2 अक्टूबर 1950 को हुआ था. 20 वर्ष की आयु में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय डेब्यू किया था. 30 जुलाई 1970 को मरडेका कप में फारमोसा के विरुद्ध अपना पहला मैच खेला. उन्होंने भारत के लिए 24 इंटरनेशनल मैच खेले जिसमें उन्होंने 9 गोल कर दिया है. 1971 के मरडेका कप में उन्होंने फिलिपींस के विरुद्ध हैट्रिक लगा दी है. इस मैच में इंडिया को 5-1 से जीत अपने नाम कर ली थी. भौमिक के जाने से फैंस में काफी निराशा है जिन्होंने सोशल मीडिया पर अपना दुख जाहिर की थी.

घरेलू स्तर पर हासिल की बड़ी कामयाबी: 1968 में उन्होंने राजस्थान क्लब के साथ प्रोफेशनल करियर को शुरू किया था. उन्होंने कोलकाता फुटबॉल लीग में अपने पहले ही सीजन में 7 गोल दाग दी थे. घरेलू स्तर पर भौमिक ने बंगाल के लिए संतोष ट्रॉफी में पांच बार भाग भी लिया था. इनमें से चार बार अपनी कप्तानी में टीम को चैंपियन बनाया और 24 गोल दागे. वहीं ईस्ट बंगाल के लिए खेलते हुए उन्होंने 82 गोल किए और अपनी टीम को तीन बार कलकत्ता फुटबॉल लीग का खिताब जिताया था वहीं उन्होंने तीन बार अपने इस क्लब को आईएफए शील्ड का खिताब भी अपने नाम कर लिया था.

हरियाणा के सामने फेल हुई दिल्ली की दबंगई

बेटे को गोद में लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहुंची टेनिस खिलाड़ी का वीडियो हुआ वायरल

सैम केर ने दागे 5 गोल, ऑस्ट्रेलिया ने इंडोनेशिया को दी करारी मात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -