किसान आत्महत्या को याद कर रो पड़े आशुतोष, उठे सवाल

Apr 24 2015 03:59 PM
किसान आत्महत्या को याद कर रो पड़े आशुतोष, उठे सवाल
नई दिल्ली : दिल्ली में आम आदमी पार्टी द्वारा आयोजित की गई रैली में किसान गजेंद्र द्वारा आत्महत्या किए जाने के मामले पर आम आदमी पार्टी पर सवाल उठाए जा रहे हैं। हर दिन आप नेताओं से समाचार चैनलों पर इस मामले में स्पष्टीकरण लिया जा रहा है। ऐसे ही एक लाईव चैट के दौरान आम आदमी पार्टी के सदस्य आशुतोष अपनी बात कहते हुए रो पड़े। हालांकि आशुतोष के रोने को घडि़याली आंसूओं की तरह बताया जा रहा है। 

मिली जानकारी के अनुसार भूमि अधिग्रहण बिल को लेकर आम आदमी पार्टी द्वारा जताए जा रहे विरोध और आम सभा के दौरान किसान गजेंद्र द्वारा आत्महत्या की गई। मगर इसके बाद भी आम आदमी पार्टी ने अपनी सभा को जारी रखा। जिसे लेकर आप नेताओं पर सवाल उठाए जा रहे हैं। मामले में हाल ही में लोकप्रिय समाचार चैनल आज तक पर चर्चा की जा रही थी। जिसमें पूर्व पत्रकार और आम आदमी पार्टी के सदस्य आशुतोष मृतक गजेंद्र की बेटी से चर्चा करते हुए रो पड़े। 

उन्होंने कहा कि इस मसले पर राजनीति न की जाए। गजेंद्र की बेटी ने यह भी कहा कि इस तरह के मुद्दे को लेकर राजनीति नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पूरे मामले पर राजनीति नहीं होना चाहिए। इस मामले में भाजपा और कांग्रेस राजनीति करना बंद कर देंगे ऐसी उम्मीद है। इसके बाद वे फूट-फूटकर रोने लगे। सोशल मीडिया पर इसकी बड़ी चर्चा रही। इस दौरान कुछ लोगों ने आशुतोष की संवेदनाओं पर सहानुभूति जताई तो कुछ ने उन्हें उनके बयान की याद दिलाते हुए कोसा। 

दरअसल आशुतोष ने अपनी एक प्रेस कांफ्रेंस में इस मसल पर जबाव देते हुए कहा था कि यदि कोई पेड़ पर चढ़ता है तो उसे नीचे उतारने का काम मुख्यमंत्री केजरीवाल का है, यदि कोई आत्महत्या करता है तो मुख्यमंत्री केजरीवाल ही उसे अस्पताल पहुंचाऐंगे। दरअसल आशुतोष ने इस तरह की बातें करते हुए मीडिया के सवालों पर तंज कसा था।