शिक्षकों ने छात्रा के बनाये मॉडल को बताया खराब तो छात्रा ने की आत्महत्या

Sep 12 2015 07:54 PM
शिक्षकों ने छात्रा के बनाये मॉडल को बताया खराब तो छात्रा ने की आत्महत्या

अशोकनगर : मध्यप्रदेश के अशोकनगर में एक दिल दहला देने वाली घटना के तहत एक छात्रा जो मॉडल बना कर लाई थी उसे शिक्षकों द्वारा खराब बता देने पर छात्रा ने दुखी होकर आत्महत्या कर ली, सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस ने बताया की अशोकनगर के उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में नौ सितंबर से इंस्पायर अवार्ड प्रदर्शनी का आयोजन किया गया था। प्रदर्शनी में कचनार के शासकीय उमावि से 10 वीं की छात्रा पूनम शर्मा भी एक मॉडल बनाकर लाई थी। इसमें उसने सौर ऊर्जा से भोजन पकाने के बारे में बताने का प्रयास किया था। प्रदर्शनी के दूसरे दिन वह देर शाम जेल भवन के पास स्थित अपने घर पहुंची और जहरीला पदार्थ खा लिया। उसकी हालत बिगड़ने पर परिजन रात को ही जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। हालत देखकर उसके मजिस्ट्रियल बयान लेने तहसीलदार आलोक वर्मा अस्पताल पहुंचे लेकिन छात्रा की हालत बयान देने लायक नहीं थी। 

इस बीच रात करीब 11 बजे उसने दम तोड़ दिया, मौत से पूर्व पूनम ने अनिल श्रीवास्तव जो की सिटी कोतवाली के प्रधान आरक्षक है उन्हें घटना को बयान किया. अनिल श्रीवास्तव ने कहा की पूनम ने तीन शिक्षकों दयाराम मौर्य, जीतेंद्र यादव और एक अन्य के नाम बताए है जिन्होंने छात्रा के मॉडल को खराब बताया था व उससे वह काफी दुखी थी व उसने निराश होकर घर पर पहुंचकर जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली. इसी बीच जिला शिक्षाधिकारी आरएस निम का कहना है कि इस छात्रा से कलेक्टर ने भी प्रदर्शनी के निरीक्षण के वक्त उसके मॉडल के बारे में चर्चा की थी जब में भी वहां पर मौजूद था. तब हमे शिक्षकों द्वारा ऐसी किसी भी टिप्पणी की जानकारी नही थी जिससे की पूनम को आत्महत्या करने पर मजबूर किया हो. पूनम ने जिन शिक्षकों के नाम लिए उनमे से एक शिक्षक दयाराम मौर्य का कहना है कि मेरी छात्रा पूनम शर्मा से मॉडल खराब होने संबंधी किसी भी तरह की कोई भी बात नही हुई थी. पुलिस इस मामले की गहनता से जाँच में लग गई है.