कहीं राजस्थान भी 'पंजाब' न बन जाए..? गहलोत-पायलट को मनाने में जुटीं सोनिया-प्रियंका

जयपुर: राजस्थान में सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच टकराव को सुलझाने के लिए कांग्रेस हाईकमान सक्रीय हो गया है. गहलोत और पायलट दोनों ही दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं, जिनके बीच सुलह-समझौते के लिए बुधवार को होने वाली मीटिंग में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी शामिल हो सकती हैं. राजस्थान में बहुत समय से गहलोत कैबिनेट के विस्तार और सियासी नियुक्तियों को लेकर मामला उलझा हुआ है. 

सूत्रों की मानें तो प्रियंका वाड्रा शिमला से दिल्ली पहुंच रही हैं. इसके बाद राजस्थान को लेकर होने वाली मीटिंग में पहुँच सकती है. कांग्रेस संगठन महामंत्री केसी वेणुगोपाल, राजस्थान प्रभारी अजय माकन के साथ सीएम अशोक गहलोत की मीटिंग है. इसके बाद सीएम गहलोत कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात कर सकते हैं. वहीं, सचिन पायलट भी मंगलवार शाम उत्तर प्रदेश से दिल्ली पहुंच चुके हैं और बुधवार को उन्होंने केसी वेणुगोपाल से मुलाकात की.  

उधर, सीएम गहलोत की दिल्ली में होने वाली बैठक को लेकर सियासी गलियारे में चर्चाएं तेज हो गई हैं. सरकार और संगठन में होने वाले फेरबदल का इस बैठक से सीधा ताल्लुक हैं. बता दें कि गहलोत के खिलाफ पायलट ने जुलाई 2020 को बगावत कर दी थी और अपने समर्थक विधायकों के साथ गुरुग्राम के होटल में चले गए थे. एक महीन से ज्यादा समय तक गहलोत-पायलट खेमे के MLA अलग-अलग बाड़ाबंदी में रहे थे. इसके बाद 10 अगस्त 2020 को प्रियंका गांधी द्वारा मध्यस्थता की गई थी.

'सूअर से नहीं लड़ना चाहिए, इससे आप गंदे हो जाओगे और उसे मज़ा आएगा..', नवाब मलिक पर फडणवीस का पोस्ट

आखिर सिद्धू की हर जिद के आगे क्यों झुक रही कांग्रेस ? CM चन्नी की भी नहीं सुन रही...

क्या भारत-चीन के बीच होने वाला है युद्ध ? सुप्रीम कोर्ट ने कहा- 1962 जैसे हालात न हो जाएं

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -