'मुसलमानों का नाम लेने से डरते हैं अखिलेश यादव..', असदुद्दीन ओवैसी ने बताई वजह

लखनऊ: ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने एक मीडिया चैनल से बात करते हुए समाजवादी पार्टी (सपा) पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव मुसलमान का नाम लेना पसंद नहीं करते कि कहीं उनके हाथों से हिंदू वोट बैंक न फिसल जाए. ओवैसी ने कहा कि हमारी लड़ाई हिस्सेदारी को लेकर है. दूसरे दल मुस्लिम को उपमुख्यमंत्री नहीं बनाना चाहते. अखिलेश यादव मुस्लिम प्रत्याशियों को दरकिनार कर रहे हैं.

सपा मुस्लिमों के साथ इन्साफ नहीं कर रही है. कई मजबूत मुस्लिम प्रत्याशियों को सपा में टिकट नहीं मिला. मैं गुलामी के किसी समीकरण में शामिल नहीं हूं. मुस्लिमों को सियासी साझेदारी देना आवश्यक है. मैंने कभी भी अखिलेश से गठबंधन नहीं चाहा. मैं गठबंधन के लिए किसी के साथ समझौता नहीं करता. ओवैसी ने आगे कहा कि अखिलेश और योगी में कोई अंतर नहीं है. मेरा मकसद शुरू से भाजपा को हराना ही रहा है. अखिलेश और योगी एक ही सिक्के के दो पहलू हैं. हम भाजपा को जिताने वाले काम नहीं करते. 

उन्होंने कहा कि, क्या OBC वोट किसी का गुलाम है? हम चाहते हैं कि हमारा मोर्चा 2024 तक जाए. यदि हम जीतेंगे तो तीन डिप्टी सीएम बनाएंगे. पहले लोगों से वोट लेने के बाद उसे भुला दिया जाता था. मुसलमानों से ये तीनों पार्टियां डरती हैं. पहली बार मुस्लिमों को उनका अधिकार मिलेगा. यदि हमारी सरकार बनेगी तो पहले ढाई साल के लिए बाबु सिंह कुशवाहा सीएम होंगे. बाकी के ढाई साल दलित समाज के नेता मुख्यमंत्री होंगे.

टीपू सुल्तान के नाम पर छिड़ा विवाद! BJP के विरोध पर बोले संजय राउत- ये सब इतिहासचार्य इतिहास बदलेंगे?

'मुझे फॉलोवर नहीं मिल रहे..', राहुल के आरोप पर भाजपा बोली- अब EC को लिख दो कि वोट नहीं मिल रहे

'मेरे फॉलोवर्स घटा दिए..', राहुल गांधी के आरोपों पर ट्विटर ने कहा- कंपनी की नीतियों पर नज़र डालें..

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -