ओवैसी ने किया पांचजन्य के संपादकीय पर हमला!

हैदराबाद : मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी द्वारा उत्तर प्रदेश के दादरी में हुई हत्या को सही बताने वाले हिंदूवादी संगठनों को लेकर कहा है कि इस तरह के संगठन देश के संविधान और कानून में विश्वास नहीं रखते हैं। संगठन और प्रकाशन उन्मादी भीड़ द्वारा इसे हत्या की मानसिकता के माध्यम से उकसाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बिहार में उन्होंने पार्टी के प्रत्याशियों के लिए प्रचार-प्रसार किया। जिसमें उन्होंने कहा कि इस तरह के संगठन और प्रकाशनों के स्वामियों पर प्रकरण दर्ज होने चाहिए। 

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के मुखपत्र पांचजन्य में प्रकाशित की गई ख़बर में भी इसी तरह की मांग की गई, जिसमें कहा गया कि उत्तरप्रदेश में मोहम्मद अखलाक की गौमांस खाने की अफवाह बेवजह भीड़ द्वारा की जाने वाली हत्या नहीं कही जा सकती है। इस मामले में पांचजन्य में वेद का हवाला देते हुए यह प्रकाशित किया गया कि गाय की हत्या करने वालों की हत्या किए जाने की अनुमति वेद भी देते हैं।

इस मामले में ओवैसी ने कहा कि भारत के संविधान और किसी धर्म पर यह बात आधारित नहीं है। उन्होंने कहा कि जो भारत धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है वह एक धर्मआधारित राष्ट्र भी बन सकता है। इन संगठनों द्वारा भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने की बात की जा रही है। कहा गया कि अखलाक और हिमाचल प्रदेश में हुई हत्या को उन्होंने बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने सवाल किया कि जब देश के 72 प्रतिशत लोग मांसाहार का सेवन करते हैं तो इन सभी को भी मारा जा रहा है। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -