कर्फ्यू में ढील मिलते ही शादी के लिए पैदल निकला दूल्हा, सामने आई ये वजह

खरगोन: रामनवमी के चलते मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में हुई हिंसा के पश्चात् हालात थोड़े सामान्य अवश्य हुए है। किन्तु यहां रहने वाले लोगों की दिक्कतें अभी कम नहीं हुई हैं। दंगों के बाद कई शादियां टूटी क्योंकि बहुत से परिवार दंगा प्रभावित इलाके में अपनी बेटियों की शादी करने से मना कर रहे हैं। खरगोन की संजय नगर बस्ती के लोग अभी भी हिंसा की मार झेल रहे हैं। 

रविवार को प्रशासन की ओर से कर्फ्यू में थोड़ी छूट दी गई। तत्पश्चात, एक लड़का अपनी शादी के लिए पैदल ही निकल पड़ा। क्योंकि कर्फ्यू के समय किसी प्रकार के कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी गई है। हालांकि रविवार को जिला प्रशासन ने प्रातः 8 बजे से 12 बजे तक कर्फ्यू में थोड़ी छूट दी थी। यही वजह है कि एक दूल्हे का घोड़ी चढ़ने तथा धूमधाम से बारात ले जाने का ख्वाब हमेशा के लिए टूट गया। कर्फ्यू तथा तनाव के चलते उसे पैदल ही बगैर बैंड, बाजे के दुल्हन के घर जाने पर विवश होना पड़ा।

दूल्हा अमन तथा उसके घरवालों को शहर से बाहर निकलने के लिए 2 से 3 किमी पैदल चलना पड़ा। इसके पश्चात् वो 40 किलोमीटर दूर कसरावद कार से पहुंचे। इसी स्थिति में वो अपनी दुल्हन को लेकर घर भी लौटेंगे। बता दें, खरगोन में रामनवमी के जुलूस के समय जिस स्थान पर हिंसा भड़की थी वहां तनाव को देखते हुए कर्फ्यू लगा दिया गया है। दूल्हे अमन को इस बात का दुःख है कि कर्फ्यू लगने से धूमधाम से जैसी शादी होनी थी वो नहीं हो पाई। शुक्रवार को इससे पूर्व खरगोन में लोगों को आवश्यक सामान खरीदने के लिए कर्फ्यू में दो घंटे की छूट दी गई थी।

IGT के फिनाले में मचेगा धमाल, बॉलीवुड के इन मशहूर स्टार्स की होगी ग्रैंड एंट्री

अचानक जंगल में भड़की आग, दमकल विभाग के कई कर्मचारी झुलसे

सैनिटाइजर पीकर आत्महत्या की कोशिश कर रहे है लोग, डॉक्टरों ने किया अलर्ट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -