माघी मेले में लगा राजनीति का मजमा

Jan 14 2016 03:46 PM
माघी मेले में लगा राजनीति का मजमा

मुक्तसर : पंजाब में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर विभिन्न दल अपनी-अपनी तैयारियों में जुट गए हैं। इस दौरान ये दल माघी मेले का सहारा भी ले रहे हैं। जिसमें इनके द्वारा मेले में आने वालों को लुभाने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस मेले में राजनीतिक दल मुक्तसर में तीन रैलियों के आयोजन में लगे हैं। आज अरविंद केजरीवाल ने मुक्तसर में रैली की। इस दौरान उन्होंने पंजाब सरकार की जमकर आलोचना की। उन्होंने बादल परिवार को जेल भेजने और दलितों पर अत्याचार की SIT जाँच कराने की बात भी कही।

उल्लेखनीय है कि इस मेले में अत्यधिक मात्र में हजार सिख एकत्रित होते हैं यह राजनीतिक दलों के लिए प्रचार का एक बड़ा अवसर है। भाजपा-अकाली दल की ओर से मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल उपस्थितों को संबोधित करेंगे। कांग्रेस द्वारा राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को पार्टी का प्रमुख नियुक्त किया गया। इस दौरान राज्य में जीत तय करने का प्रयास किया जा रहा है। कांग्रेस की रैली की कमान कैप्टन अमरिंद के हाथों होगी।

माघी मेले से राज्य में सत्ता का संघर्ष भी प्रारंभ हो गया है। इस बार कांग्रेस अपने लिए प्रयास कर रही है मगर आम आदमी पार्टी के आ जाने से उसका वोट बैंक कम होना माना जा रहा है। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस 9 वर्ष से सत्ता से बाहर हैं। अकाली दल और भाजपा का गठजोड़ 2012 में ऐतिहासिक जीत दर्ज करवा चुका है।

आम आदमी पार्टी इस मेले से अपने संगठन को मजबूत कर रही है तो इस माध्यम से फंड एकत्रित करने में भी जुटी है। भठिंडा में डिनर का आयोजन भी हुआ। जहां प्रति व्यक्ति 5 हजार रूपए लिए गए। मुख्यमंत्री केजरीवाल इस डिनर में नहीं आए मगर डिनर में 100 लोग जुटे और आप के सांसद भगवंत मान से भेंट की। सभी ने भगवंत के साथ भी भोजन किया।