कई दिनों तक सुलगने के बाद अब अरुणाचल में सामान्य हो रहे हालात

ईटानगर : पिछले कुछ दिनों से सुलग रहे अरुणाचल प्रदेश में अब तेजी से हालात सामान्य हो रहे हैं। राज्य में सोमवार को कहीं से किसी हिंसक वारदात की सूचना नहीं मिली। राजधानी ईटानगर व आसपास के इलाकों में बेमियादी कर्फ्यू लागू है और इंटरनेट सेवाएं भी ठप हैं। छह जनजातियों को स्थायी निवास प्रमाणपत्र देने के संयुक्त उच्चाधिकार समिति की सिफारिशों के विरोध में बडे़ पैमाने पर भड़की हिंसा व आगजनी में कम से कम दो लोगों की मौत हो गई थी। 

जम्मू कश्मीर: कुलगाम मुठभेड़ में मारे गए तीन आतंकियों में से दो पाकिस्तानी नागरिक

जमकर हुआ था हंगामा 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदर्शनकारियों ने सैकड़ों वाहन, शॉपिंग माल के अलावा उपमुख्यमंत्री का बंगला भी जला दिया था। संयुक्त समिति ने राज्य के नामसाई और चांगलांग जिलों में रहने वाले छह ऐसी जनजातियों को स्थायी निवास प्रमाणपत्र देने की सिफारिश की थी जो अरुणाचल के मूल निवासी नहीं हैं लेकिन दशकों से यहां रह रहे हैं। वही सरकार ने इन सिफारिशों को शनिवार को विधानसभा में पेश करने का एलान किया था। इसके बाद ही राज्य में हिंसा भड़क उठी। 

अंडमान के एकांत कारावास में जेल की दीवारों पर कविताएं लिखते थे यह महान क्रांतिकारी

अब सामान्य हो रहे हालात 

जानकारी के लिए बता दें 16 संगठनों ने इसके विरोध में गुरूवार से 48 घंटे बंद की अपील की थी। वही शुक्रवार शाम से लोग हिंसक हो उठे। शनिवार और रविवार को भी हिंसा और आगजनी हुई। इस दौरान पुलिस की गोली से दो युवकों की मौत से लोगों का गुस्सा और भड़क उठा। बिगड़े हालात को देखते हुए राज्य सरकार ने फिलहाल समिति की सिफारिशों को ठंडे बस्ते में डालने का एलान किया है। इस बीच, केंद्र ने राज्य में केंद्रीय बलों की 10 और कंपनियां भेज दी हैं।

575 पद खाली, सहायक मैनेजर करें अप्लाई

अब तक नहीं चल सका हिमपात में दबे सेना के जवानों का पता

Infinix note 5 है कंपनी का सबसे बढ़िया स्मार्टफोन, सेल में कीमत रह गई महज इतनी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -