आर्टिस्ट जेरामभाई पटेल का निधन, सेवक को बना गए करोड़पति

Jan 19 2016 02:52 PM
आर्टिस्ट जेरामभाई पटेल का निधन, सेवक को बना गए करोड़पति

वडोदरा (गुजरात) : आर्टिस्ट जेरामभाई पटेल का निधन हो गया है. 86 वर्षीय जेरामभाई पैरालिसिस से ग्रसित थे. लेकिन जाते जाते वह अपने सेवक डायाभाई मारवाड़ी के बैंक अकाउंट में एक करोड़ और आठ अन्य लोगों को 50 हजार से दो लाख रुपए तक दे गए. पैरालिसिस से पीड़ित होने के कारण जेरामभाई को हर काम के लिए सहारे की ज़रूरत रहती थी डायाभाई ने परछाई की तरह उनका साथ देते हुए उनकी सेवा की.

डायाभाई पिछले 42 साल से जेरामभाई की देखभाल कर रहे थे. डायाभाई बताते है की वह 12 साल की उम्र से ही जेरामभाई की सेवा करते आ रहे है. जेरामभाई से उनकी पहचान वडाेदरा की एमएस यूनिवर्सिटी में हुई थी. साहब के कहने पर उनके साथ ही रहने लगा. मैं खुशकिस्मत हूं कि उनकी मेहनत से मुझ जैसे लोगों की जिंदगी संवर गई. आपको बता दे की जेरामभाई ने कई मीडियम में काम किया था. 250 के करीब पेन्टिंग्स, स्कल्पचर और आर्टवर्क उन्होंने दिल्ली के किरण नाडार म्यूजियम को 6 करोड़ रुपए में दे दिया. पिछले वर्ष सितंबर में उन्होंने खुद यह डील की थी. अपने पास सिर्फ 5 पेन्टिंग्स रखीं. तोहफे में मिली कई बड़े कलाकारों की पेन्टिंग्स भी म्यूजियम को दे दी.

जानकारों का कहना था है की अगर जेरामभाई अपना आर्टवर्क बाजार में बेचते तो कम से कम 25 करोड़ रुपए की कीमत मिलती. मुंबई के जेजे स्कूल ऑफ आर्ट्स से पढ़े जेरामभाई की पेन्टिंग्स की 100 से ज्यादा एग्जीबिशन देश-विदेश में लग चुकी है. तीन बार ललित कला अकादमी सहित कई नेशनल-इंटरनेशनल अवॉर्ड से सम्मानित हो चुके. वे चाहते थे की उनकी कला ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचे इसलिए अपनी पेन्टिंग्स कम कीमत पर म्यूजियम को दे दी.