Share:
2500 साल पुराना है तेलंगाना का इतिहास, राजा सातवाहन से लेकर निजामों तक ने किया राज
2500 साल पुराना है तेलंगाना का इतिहास, राजा सातवाहन से लेकर निजामों तक ने किया राज

हैदराबाद: प्रति वर्ष 2 जून को तेलंगाना अपना Formation Day मनाता है. तेलंगाना का अर्थ तेलुगु भाषा बोली जाने वाला स्थान है. जिसका इतिहास लगभग 2500 वर्ष पुराना है. जो कुछ ही सालों पूर्व आंध्र प्रदेश से एक होकर अलग राज्य बना है. 2 जून 2014 को यह अलग राज्य बना था. तेलंगाना की इतिहास की बात करें तो 230 BC के आसपास यहाँ सातवाहन समेत कई राजाओं का शासन था. 

इसके बाद Kakatiyas ने यहाँ शासन किया, यह तेलंगाना का स्वर्ण युग माना जाता है. बाद में तेलंगाना पर निज़ामों का शासन रहा. अंग्रेज़ों द्वारा भारत छोड़ने के बाद, उस्मान अली खान तेलंगाना के अंतिम निज़ाम थे. जिनसे भारतीय संघ क्षेत्र का हिस्सा बनने का आग्रह किया गया था, लेकिन इसके लिए उन्होंने इंकार कर दिया. इसके बाद इंडियन आर्मी ने राज्य पर कब्ज़ा कर लिया और निजाम को आत्मसमर्पण करना पड़ा

हालांकि, फिर भी बहुत समय से तेलगू बोलने वाले लोगों आंध्र प्रदेश से अलग तेलंगाना राज्य चाहते थे. यह प्रस्ताव वर्ष 2013 में मनमोहन सिंह के कार्यकाल में दोनों संसदों में पारित हो गया था.  2 जून 2014 को तेलंगाना को अलग राज्य घोषित कर दिया गया और श्री के चंद्रशेखर राव इसके पहले सीएम बने तथा E S L नरसिम्हन राज्य के पहले राज्यपाल बने. 

सेंसेक्स निफ्टी में सामान्य गिरावट, जानिए किसे हुआ कितना लाभ

झारखंड सरकार के पास कोरोना वैक्सीन खरीदने को पैसे नहीं, CM सोरेन बोले- मुफ्त में टीके दे केंद्र

भिखारियों के टीकाकरण के लिए दिल्ली HC में याचिका, अदालत ने राज्य सरकार को भेजा नोटिस

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -