हिमाचल प्रदेश का स्थापना दिवस आज, जानिए कैसे मिला था राज्य का दर्जा

शिमला: हिमाचल प्रदेश पश्चिमी भारत में स्थित एक पहाड़ी राज्य है। इसके सरहदें उत्तर में जम्मू और कश्मीर, पश्चिम और दक्षिण-पश्चिम में दक्षिण में हरियाणा एवं उत्तर प्रदेश, दक्षिण-पूर्व में उत्तराखंड तथा पूर्व में तिब्बत से लगती हैं। अगर 'हिमाचल' प्रदेश का शाब्दिक अर्थ देखा जाए, तो इसका मतलब बर्फ़ीले पहाड़ों का अंचल' निकलता है। बता दें कि हिमाचल प्रदेश को देव भूमि भी कहा जाता है। 

हिमाचल प्रदेश में आर्यों का प्रभाव ऋग्वेद से भी पुराना माना जाता है। आंग्ल-गोरखा युद्ध के बाद, यह ब्रिटिश राज के अंतर्गत आ गया। सन् 1857 तक यह पंजाब के महाराजा रणजीत सिंह के शासन के अंतर्गत पंजाब राज्य का अंग रहा। सन् 1950 में इस राज्य को केन्द्र शासित प्रदेश बना दिया गया, लेकिन 1971 में 'हिमाचल प्रदेश राज्य अधिनियम-1971' के अन्तर्गत इसे 25 जनवरी 1971 को भारत का अठारहवाँ प्रदेश का दर्जा दिया गया।

हिमाचल प्रदेश पश्चिमी हिमालय के मध्य में स्थित है, यहाँ देवी और देवताओं का निवास स्थान माना जाता है। हिमाचल राज्य में पत्थर और लकड़ी के अनेक प्राचीन मंदिर मौजूद हैं। सम़ृद्ध संस्कृति और परम्पराओं ने हिमाचल को एक अनोखा प्रदेश बना दिया है। यहाँ के ऊंचे नीचे पहाड़, ग्लेशियर, छायादार घाटियां और विशाल पाइन वृक्ष, इठलाती नदियां और विशिष्ट जीव जंतु मिलकर हिमाचल के लिए एक मधुर संगीत की रचना तैयार करते प्रतीत होते हैं।

राष्ट्रीय बालिका दिवस: प्रधानमंत्री मोदी ने कर्नाटक के बाल पुरस्कार विजेता की उपलब्धियों की सराहना की

प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार विजेताओं से PM ने किया संवाद, कहा- अब आपकी जिम्मेदारी बढ़ गई

'जेल में हो सकती है मेरे अब्बू की हत्या..', पिता मुख़्तार अंसारी से मिलने के बाद बोला बेटा उमर

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -