'पुष्प की अभिलाषा' लिखने वाले माखनलाल चतुर्वेदी की जयंती आज, जानिए उनके जीवन की कुछ रोचक बातें

'पुष्प की अभिलाषा' लिखने वाले माखनलाल चतुर्वेदी की जयंती आज, जानिए उनके जीवन की कुछ रोचक बातें
Share:

नई दिल्ली: हिंदी के जाने माने कवि माखनलाल चतुर्वेदी जी की आज 4 अप्रैल को जयंती है, उनका जन्म आज ही के दिन 1889 को हुआ था। वह भारत के ख्यातिप्राप्त कवि होने के साथ ही, बेहतरीन लेखक और पत्रकार थे, जिनकी रचनाएँ अत्यंत लोकप्रिय हुईं। सरल भाषा और ओजपूर्ण भावनाओं के वे अनूठे हिंदी रचनाकार थे। प्रभा और कर्मवीर जैसे प्रतिष्ठत पत्रों के संपादक के रूप में उन्होंने ब्रिटिश शासन के खिलाफ जोरदार प्रचार किया और नई पीढ़ी का आह्वान किया कि वह गुलामी की जंज़ीरों को तोड़ कर बाहर आए। इसके लिये उन्हें अनेक बार ब्रिटिश साम्राज्य का कोपभाजन बनना पड़ा। वे सच्चे देशप्रमी थे और 1921-22 के असहयोग आंदोलन में सक्रिय रूप से भाग लेते हुए जेल भी गए। आपकी कविताओं में देशप्रेम के साथ-साथ प्रकृति और प्रेम का भी चित्रण हुआ है।

उनकी प्रसिद्ध कृतियाँ हैं हिम कीर्तिनी, हिम तरंगिनी, युग चरण, और साहित्य देवता, और उनकी सबसे प्रसिद्ध कविताएँ वीनू लो गुनजे हैं धरा दीप से दीप जले, कैसा छंद बाना देति है और पुष्य की अभिलाषा। उनकी याद में, मध्य प्रदेश साहित्य अकादमी (मध्य प्रदेश सांस्कृतिक परिषद) 1987 से वार्षिक 'माखनलाल चतुर्वेदी समरोह' का आयोजन करती है, इसके अलावा एक भारतीय कवि द्वारा कविता में उत्कृष्टता के लिए वार्षिक 'माखनलाल चतुर्वेदी पुरस्कार' प्रदान किया जाता है। मध्य प्रदेश के भोपाल में माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय चित्रकार विश्व विद्यालय का नाम उनके सम्मान में रखा गया है। 

अप्रैल 1913 में खंडवा के हिन्दी सेवी कालूराम गंगराड़े ने मासिक पत्रिका 'प्रभा' का प्रकाशन आरंभ किया, जिसके संपादन का दायित्व माखनलालजी को सौंपा गया। सितंबर 1913 में उन्होंने अध्यापक की नौकरी छोड़ दी और पूरी तरह पत्रकारिता, साहित्य और राष्ट्रीय आंदोलन के लिए समर्पित हो गए। इसी वर्ष कानपुर से गणेश शंकर विद्यार्थी ने 'प्रताप' का संपादन-प्रकाशन आरंभ किया। 

'बिना बेहोश किए नहीं कर सकते जानवरों की हत्या..', बीच रमजान में कर्नाटक सरकार का आदेश

आज से शुरू हुआ सीएम योगी का जनता दरबार, खुद सुनेंगे आम आदमी की समस्या और करेंगे समाधान

जगन्नाथ मंदिर के जिस रसोई में 800 वर्षों से तैयार होता है 'महाप्रसाद', उसके 40 चूल्हों में तोड़फोड़

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -