Twitter पर ट्रेंड कर रहा #ArrestSanjayRaut, क्या शिवसेना नेता होंगे गिरफ्तार ?

मुंबई: महाराष्ट्र में जारी सियासी संकट के बीच प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शिवसेना के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत को मुंबई की एक ‘पात्रा चॉल’ के पुन:विकास से जुड़े, मनी लॉन्डरिंग के एक मामले की जांच के सिलसिले में पूछताछ के लिए मंगलवार को तलब किया है। इसके बाद संजय राउत का एक ट्वीट सामने आया है। राउत ने अपने ट्वीट करते हुए लिखा कि, 'मुझे अभी पता चला है कि ED ने मुझे तलब किया है। महाराष्ट्र में ये बड़े सियासी घटनाक्रम हैं। हम बालासाहेब के शिवसैनिक एक बड़ी लड़ाई लड़ रहे हैं। यह मुझे रोकने की साजिश है। भले ही आप मुझे मार डालें , मगर मैं गुवाहाटी मार्ग नहीं लूंगा। मुझे अरेस्ट करो!' 

 

संजय राउत के ट्वीट के बाद से ही सोशल मीडिया पर #ArrestSanjayRaut ट्रेंड कर रहा है। लोग संजय राउत को गुंडा बताते हुए उन्हें जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं। दरअसल, राउत ने शिवसेना के बागी विधायकों को लेकर कहा था कि, गुवाहाटी से 40 विधायकों की लाशें आएंगी, जिनको हम पोस्टमार्टम के लिए विधानसभा भेजेंगे। राउत के इस बयान के बाद उनकी जमकर आलोचना भी हुई थी। जिसके बाद उन्होंने पलटी मारते हुए कहा था कि, 'मैंने तो जमीर मरने कि बात कही थी।'  

वहीं, इससे पहले ED ने अप्रैल में संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत और सांसद के दो सहयोगियों की 11।15 करोड़ रुपए की संपत्ति को अस्थायी रूप से कुर्क कर लिया था।अब हालिया समन के बाद संजय राउत ने कहा है कि, मुझे पता था कि ED मुझे तलब करने वाली है, लेकिन मैं घुटने नहीं टेकूंगा। बागी विधायक चाहे कुछ भी कर लें, मैं गुवाहाटी नहीं जाऊंगा। मैं बालासाहेब का शिव सैनिक हूं और मैं अपनी पार्टी के साथ खड़ा रहूंगा। मैं कल जाँच एजेंसी के सामने पेश नहीं होउंगा। ED से वक़्त मांगूंगा, लेकिन जाऊंगा जरूर। 

राउत ने कहा कि, यदि घर में नोटिस आया होगा, तो मैं देख लूंगा। जिस प्रकार की सियासी हलचल महाराष्ट्र और देश में चल रही है, मुझे अंदेशा था कि मुझे और शिवसेना को रोकने के लिए महाराष्ट्र के खिलाफ कुछ लोग एक साथ आएंगे और मुझे और मेरे साथी को तकलीफ देंगे। मगर आप चाहे मुझे कितनी भी तकलीफ दीजिए, मैं गुवाहाटी नहीं जाऊंगा। मैं बालासाहेब की शिवसेना के साथ खड़ा रहूंगा और उनकी साख बचाने के लिए आखिरी सांस तक लड़ता रहूंगा। कल मेरी कई सभाएं हैं तो मैं उसके बाद जांच एजेंसी से वक़्त ले लूंगा, मगर मैं ED के कार्यालय जरूर जाऊंगा।

इस राज्य में 15 अगस्त से बहाल हो जाएगी पुरानी पेंशन स्कीम, CM ने कर दिया ऐलान

महात्मा गांधी ने करवाई थी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की हत्या

आजमगढ़ उपचुनाव में हार से आहत हुईं मायावती, बसपा कार्यकर्ताओं से की यह अपील

 

 

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -