ISIS के निशाने पर भारत, गिरफ्तार IS आतंकियों ने किया खुलासा

Jan 21 2016 11:10 AM
ISIS के निशाने पर भारत, गिरफ्तार IS आतंकियों ने किया खुलासा

नई दिल्ली. भारत में पहली बार खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ISIS की साजिश का पर्दाफाश हुआ है. दिल्ली पुलिस और रॉ के जॉइंट ऑपरेशन से पिछले दिनों हिरासत में लिए 4 आतंकियों ने पूछताछ में खुलासा किया कि इराक और सीरिया में बैठ ISIS के आतंकी उन्हें दिल्ली सहित हरिद्वार के अर्द्धकुंभ में आतंकी हमले की वारदात को अंजाम देने का हुक्म सुना चुके थे.

इस बीच, बांग्लादेश के हिजबुल तहरीर के एक कॉल को इंटरसेप्ट किया गया है. जिसमे मालूम पड़ा है आतंकी 23 जनवरी को नॉर्थ इंडिया में आतंकवादी हमले को अंजाम देने की फिराक में हैं. नोएडा में रहने वाले आईटीबीपी के आईजी आनंद स्वरूप की सफारी गाड़ी चोरी होने के बाद इंटेलिजेंस एजेंसियां चुकांना हो चुकी है और हाई अलर्ट जारी कर दिया है.

दिल्ली पुलिस द्वारा जिन 4 यव्वको को गिरफ्तार किया गया है वे सभी सीरिया और इराक में ISIS हैंडलर्स से वीओआईपी, वॉट्सऐप और फेसबुक के जरिए संपर्क में थे. एक लड़का अखलाक रुड़की के पॉलिटेक्निक कॉलेज में थर्ड ईयर का छात्र है अन्य तीन युवको के नाम मोहम्मद ओसामा, अजीज और मेहराज हैं. मोहम्मद ओसामा और अजीज रुड़की में बीए के छाते और मेहराज आयुर्वेद का छात्र बताया जा रहा है. इ

न चारों को भयानक आतंकी संगठन ISIS ने 26 जनवरी या उससे पहले दिल्ली-एनसीआर में सिटीवॉक, साकेत, डीएलएफ, वसंतकुंज और नोएडा के ग्रेट इंडिया प्लेस में आतंकी हमले को अंजाम देने का आर्डर दे दिया था. वही पता चला की इनका प्लान अर्द्धकुंभ में 8 फरवरी को बम धमाका करने का था. इंटेलिजेंस एजेंसियों ने बांग्लादेश के आतंकियों की बातचीत इंटरसेप्ट की है. जिसमे खुलासा हुआ है कि हिजबुल तहरीर के आतंकी कोडवर्ड के जरिये बात कर रहे थे. इनका कोडवर्ड है- 'डॉक्टर मेडिसिन लेकर जाएगा'. हिजबुल तहरीर आतंकी हमले की साजिश में जैश-ए-मोहम्मद, इंडियन मुजाहिदीन और लश्कर की मदद भी ले रहा है.