एक ट्वीट के चलते कठुआ केस से जुडी वकील दीपिका राजावत को अरेस्ट करने की मांग कर रहे हैं लोग

Oct 20 2020 11:29 AM
एक ट्वीट के चलते कठुआ केस से जुडी वकील दीपिका राजावत को अरेस्ट करने की मांग कर रहे हैं लोग

जम्मू कश्मीर : जम्मू कश्मीर की वो घटना तो आप सभी को याद ही होगी जिसने सभी को झकझोर दिया था। जी दरअसल वह घटना कठुआ की थी जहाँ एक आठ साल की बच्ची के साथ बलात्कार हुआ था और उसके बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। उस मामले में पठानकोट के एक विशेष अदालत ने छह लोगों को दोषी करार दिया था। उसके बाद मुख्य आरोपी सांझीराम के बेटे एवं सातवें आरोपी विशाल को बरी कर दिया गया था। जी दरअसल पीड़िता के परिवार के वकील फारुकी खान ने कहा था, ‘‘अदालत ने छह लोगों को दोषी करार दिया है। एक आरोपी, सांझीराम के बेटे विशाल को बरी कर दिया गया है।'' 

वैसे आपको याद ही होगा कठुआ सामूहिक दुष्कर्म के मामले का वो नाम जिन्होंने पीड़िता को न्याय दिलाने में अहम भूमिका निभाई। जी दरअसल हम बात कर रहे हैं वकील दीपिका सिंह राजावत की। वह कठुआ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पीड़िता की वकील थीं, लेकिन कुछ ही समय बाद पीड़िता के परिवार ने उनसे केस वापस से लिया था। वैसे इस समय दीपिका अपने एक ट्वीट के चलते चर्चाओं में हैं। हाल ही में उन्होंने एक ट्वीट किया है जिसमे उन्होंने अब के समाज की विडंबना को दिखाया है। उन्होंने अपने ट्वीट में दिखाया है कि नवरात्र के दिनों में लड़कियों की हालत क्या होती है और बाकी दिनों में क्या होती है।

वैसे इस ट्वीट को देखने के बाद लोग तरह तरह के रिएक्शन देते दिखाई दे रहे हैं। कुछ लोग उन्हें हिन्दू धर्म का अपमान करने वाली महिला बता रहे हैं तो कुछ ऐसे लोग भी हैं जो उनका सपोर्ट कर रहे हैं। कई ऐसे भी लोग हैं जो उन्हें अरेस्ट करने के लिए कह रहे हैं वैसे हम आपको यह भी बता दें कि दीपिका बेबाक बयान देती हैं। जब वह कठुआ केस लड़ रहीं थीं तब उन्होंने बताया था कि उन्हें जान से मारने की धमकियां मिली थीं। वहीँ उस दौरान उन्होंने कहा था 'मेरा बलात्‍कार भी हो सकता है। मेरा कत्‍ल भी किया जा सकता है और शायद वे मुझे कोर्ट में प्रैक्टिस ही न करने दें। उन्‍होंने मुझे अलग-थलग कर दिया है। मुझे नहीं पता मैं कैसे रह पाऊंगी।' फिलहाल दीपिका अपने इस ट्वीट के कारण सुर्ख़ियों में हैं।

पिता की अस्थि लेकर पैतृक गांव पहुंचे चिराग पासवान, बोले- अकेला पड़ गया हूँ...

कोरोना पर केंद्र के आंकड़े गलत ! अब तक 30 फीसद भारतीय संक्रमित - एक्सपर्ट का दावा

आर्मी पब्लिक स्कूल में अध्यापकों की बंपर भर्तियां, आज है अंतिम अवसर