पढ़ाई छोड़ सेक्सटॉर्शन गिरोह चलाने लगा आर्मी अफसर का बेटा, अश्लील वीडियो बनाने के लिए गर्लफ्रेंड डालती दबाव

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर शहर से एक हैरतंअगेज घटना सामने आई है, जिसमे CRPF अधिकारी का बेटा सेक्सटॉर्शन गिरोह का सरगना बन गया। हिमांशु तिवारी स्वयं एक वर्ष पहले सेक्सटॉर्शन का शिकार हुआ था। तत्पश्चात, उसने अपनी गर्लफ्रेंड के साथ गिरोह बनाया। फिर सोशल मीडिया पर लोगों को अश्लील बातों में फंसाकर न्यूड वीडियो कॉल के माध्यम से ब्लैकमेल करने का खेल आरम्भ हुआ। अब तक 35 लोगों को ब्लैकमेल कर रुपए ऐंठे हैं। हिमांशु के CRPF अधिकारी पिता को जब इकलौते बेटे की गिरफ्तारी का पता चला तो उन्होंने पुलिस को कॉल कर पूरी घटना के बारे में जाना। पिता बोले-बेटे की परवरिश में कोई कमी नहीं आने दी। फिर वो ऐसे कामों में कैसे उलझ गया।

थाना प्रभारी सतीश पटेल ने बताया कि हिमांशु की गैंग सोशल मीडिया पर लड़कियों के आकर्षक फोटो डालती थी। फेसबुक पर भी खूबसूरत लड़कियों की आईडी बनाकर लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजते थे। जो रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर लेते, उससे अश्लील चैटिंग करते। फिर न्यूड वीडियो बनाने के लिए उकसाते। इस वीडियो चैटिंग को स्क्रीन रिकॉर्डर के माध्यम से रिकॉर्ड करके उसे ही भेज देते। इस प्रकार ब्लैकमेल करके रुपए ऐंठते। पुलिस ने 5 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। सभी विद्यार्थी हैं। इनमें एक नाबालिग भी है। मुख्य अपराधी हिमांशु तिवारी, उसकी प्रेमिका प्रियंका पिता पुष्पेश विश्वकर्मा निवासी इंदौर, रीवा के रहने वाले दो छात्र अमर और सीताराम पुलिस की गिरफ्त में है।

हिमांशु ने बताया कि एक वर्ष पहले वो इंस्टाग्राम पर सेक्सटॉर्शन का शिकार हो गया था। उसने अपने अश्लील वीडियो बनने के बाद गिरोह को रुपए दिए थे। तत्पश्चात, उसने अपनी प्रेमिका प्रियंका को ये बात बताई। दोनों ने जल्द रुपए कमाने के लालच में स्वयं की गैंग बनाने की योजना बनाई। गैंग के सदस्य कई लोगों की फर्जी आईडी बनाकर महिलाओं की अश्लील फोटो लगाकर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजते। फिर प्रियंका फेसबुक तथा सोशल मीडिया पर ऑडियो भेजती। जब शिकार फंस जाता तो वीडियो कॉल करके उसका अश्लील वीडियो बनाते। स्क्रीन रिकॉर्डर से रिकॉर्ड कर लेते। फिर वीडियो वायरल करने की धमकी देकर रुपए वसूलते। हिमांशु के पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद जम्मू में CRPF में पदस्थ पिता रमाकांत तिवारी ने पुलिस को फोन कर वस्तु स्थिति जानी। पिता ने बताया कि उनका परिवार 5 वर्ष पूर्व इंदौर आया था। BBA करने के पश्चात् हिमांशु MBA की तैयारी कर रहा था। इकलौता बेटा होने की वजह से उसकी हर जरूरत को पूरा किया जाता था। घर में अपने कमरे में ही पढ़ाई के बहाने उसने लैपटॉप तथा वाईफाई लगवा लिया था। वो अपने दोस्तों के साथ घंटों तक कम्प्यूटर पर काम करता रहता था, मगर पता नहीं था ये गंदा काम कर रहा है।

धर्मशाला के दो दिवसीय दौरे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

मुसलमानों ने हनुमान मंदिर पर फेंके पत्थर, नूपुर के बयान पर रांची में मचा बवाल

अब छत्तीसगढ़ में हुई अनोखी शादी! एक प्रेमी-दो प्रेमिका, एक मंडप में ही दोनों के साथ लिए 7 फेरे

Most Popular

- Sponsored Advert -