अर्मेनिया और अजरबैजान में तेज हुई जंग, शांति के सभी प्रयास हुए विफल

येरेवन: अर्मेनिया (Armenia) और अजरबेजान (Azerbaijan) के बीच शुरू हुआ युद्ध थमने का नाम नहीं ले रहा है. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शांति बाहली की कोशिशों के बाद भी अर्मेनिया और अजरबेजान के बीच संघर्ष बढ़ता जा रहा है. वहीं अर्मेनियाई अधिकारियों का कहना है कि अजरबैजान की तरफ से शनिवार को एक नए हमले की शुरुआत की है.

इसके बाद से ही नागोर्नो-करबाख क्षेत्र (Nagorno-Karabakh) पर अटैक और बढ़ गए हैं. अर्मेनियाई रक्षा मंत्रालय की प्रवक्ता शुशन स्टीफानन ने कहा है कि, ‘भारी लड़ाई जारी है’. वहीं अजरबैजान के रक्षा मंत्रालय ने दावा करते हुए कहा है कि उसने ‘करबाख में नई तलहटी पर कब्जा कर लिया है. पिछले हफ्ते आरंभ हुई इस लड़ाई में अब तक कम से कम 200 लोगों की मौत हो चुकी हैं.

इस बीच अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने ‘थर्ड पार्टी’ से दूर रहने का आग्रह किया है. माइक पोम्पिओ ने कहा है कि हमने सीरिया के लड़ाकों को सीरिया के युद्धक्षेत्र से लीबिया तक जाते हुए देखा है. इससे अस्थिरता, अशांति, संघर्ष, तनाव बढ़ रहा है. शांति भंग हो रही है. अर्मेनिया ने इससे पहले ऐलान किया था कि यह नागोर्नो-कराबाख में संघर्ष विराम के लिए रूस, संयुक्त राज्य अमेरिका और फ्रांस के साथ कार्य करेगा.

मिथुना को एक भारतीय व्हिस्की ब्रांड के रूप में अगले साल किया जाएगा सम्मानित

आरामदायक कपड़ो और फुटवियर की बढ़ी मांग

दिल्ली-NCR में सस्ती हुई CNG और घरेलु गैस, जानिए क्या है कीमत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -