29 दिन बाद आखिरकार ख़त्म हुई अर्मेनिया और अज़रबैजान की जंग, मारे गए 5000 लोग

29 दिन बाद आखिरकार ख़त्म हुई अर्मेनिया और अज़रबैजान की जंग, मारे गए 5000 लोग

वाशिंगटन: बीते 29 दिनों से आर्मीनिया और अजरबैजान के बीच जारी लड़ाई अब खत्म हो गई है। दोनों देशों की ओर से 26 अक्टूबर की आधी रात को युद्ध विराम लागू करने पर हामी भर दी गई है। दरअसल, ये युद्ध विराम अमेरिका के दखल के बाद हुआ है। आर्मीनिया और अजरबैजान के बीच छिड़ी इस जंग में अब तक 5 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। 

अमेरिका ने शांति स्थापित करने के लिए दोनों देशों के मामले में हस्तक्षेप किया और युद्ध पर विराम लगाने के लिए दोनों ओर से पहल की। आर्मीनिया और अजरबैजान के बीच युद्ध विराम के संबंध में खुद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने ऐलान किया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट करते हुए कहा कि, 'आर्मीनियाई पीएम निकोलस पशिनान और अज़रबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीयेव को बधाई, जो आधी रात को असरदार ढंग से युद्धविराम का पालन करने के लिए राजी हुए। इससे कई लोगों की जान बचेगी।'

आपको बता दें कि इससे पहले माइक पोम्पियो ने दोनों देशों के विदेश मंत्रियों से बात करने के बाद संघर्ष विराम कोई घोषणा की थी। दरअसल, आर्मीनिया और अजरबैजान दो छोटे मुल्क हैं, किन्तु इन दोनों के बीच नागोर्नो काराबाख को लेकर भीषण संघर्ष पिछले 29 दिनों से जारी था। इस जंग में मारे गए लोगों को लेकर दावा किया जा रहा है कि इसमें दोनों पक्षों के तक़रीबन 5 हजार लोगों की जान गई हैं।

दो सींग और टैटू से भरा है इनका शरीर, करवा रखी हैं 453 पियर्सिंग

इंफ्लूएंजा वैक्सीन पर प्रतिबंध लगाने वाला पहला देश बना सिंगापुर

मध्य-पूर्व में पैगंबर के कार्टून पर फ्रांसीसी उत्पादों का शुरू हुआ बहिष्कार