भारत में कहा-कहा दिखाई देगा 'सुपर ब्लड मून'

Sep 26 2015 05:25 PM
भारत में कहा-कहा दिखाई देगा 'सुपर ब्लड मून'

नई दिल्ली. आने वाले सोमवार यानि 28 सितंबर को आकाश में हमे एक दुर्लभ व बहुत ही रोचक खगोलीय नजारा दिखाई देगा. क्योँकि सोमवार को परमग्रास ग्रहण के दौरान चंद्रमा पृथ्वी की प्रच्छाया से पूरी तरह से छुप जाएगा व हमे  'सुपर ब्लड मून' के साथ पूर्ण चंद्रग्रहण पडे़गा। व खबर है की इस दिन पृथ्वी से सूरज की किरणे चाँद के जिस स्थान पर पड़ेगी तो चाँद का सिर्फ वहीं भाग जबरदस्त रूप से लाल रंग का दिखाई देगा. व इसलिए इसे वैज्ञानिकता की भाषा में 'सुपर ब्लड मून' के नाम से संबोधित किया जा रहा है. देखा जाए तो यह भारत में 2015 के दौरान द्वितीय चंद्रग्रहण होगा. जब चंद्रमा अपने आकर से अत्यधिक बड़ा दिखाई दे तो उसे सुपरमून कहते है. यह जब होता है जब चंद्रमा अपेक्षाकृत रूप से धरती के पास में आ जाता है चंद्रमा जैसे ही पथ्वी के ठीक पीछे आता है तो उसका रंग अत्यधिक रूप से गहरा लाल हो जाता है। 

क्योंकि उस तक केवल पथ्वी के वायुमंडल से ही सूर्य की रोशनी पहुंचती है. नासा ने इस पर अपने एक बयान में दोहराया है की यह पूर्ण चंद्रग्रहण भारत में मात्र पश्चिमी गुजरात के द्वारका, पोरबंदर व भुज क्षेत्र में देखा जा सकता है. यह चंद्रग्रहण उत्तर एवं दक्षिण अमेरिका, यूरोप, अफ्रीका और पश्चिम एशिया एवं पूर्वी प्रशांत के कुछ हिस्सों में इसका प्रभाव दिखाई देगा. यह चंद्रग्रहण सुबह 6-37 से प्रारंभ होगा इसका खग्रास रूप प्रात: 7-41 पर मध्य 8.17 पल खग्रास समाप्त-8-54 पर और प्रात:-9.57 पर ग्रहण समाप्त होगा। वैज्ञानिक इस नजारे को देखने के लिए बहुत ही ज्यादा उत्साहित है. व लोगो के मन में इसको लेकर तृत तरह की भ्रांतियां है.