सीक्रेट मेसेज चुराता था यह ऐप, गूगल ने पकड़ा

सीक्रेट मेसेज चुराता था यह ऐप, गूगल ने पकड़ा

नई दिल्ली. गूगल हमेशा साइबर सुरक्षा को लेकर कदम उठाता रहता है. साथ ही स्किल ट्रेनिंग कार्यक्रम भी बढ़ावा दे रहा है. इसी दौरान गूगल ने टीजी नाम के एक ऐसे ऐप पता लगाया है, जो कि फेसबुक और व्हाट्सऐप जैसे सोशल मीडिया ऐप के साथ-साथ फोन से सूचनाएं चुराता है. यह ऐप मोबाइल फोन के कॉल रिकार्ड से भी सूचनाएं चुरा लेता है और यह काम इतनी सफाई से करता है कि उपयोक्ता को भनक तक नहीं लगती. गूगल ने एक ब्लाग पोस्ट में इसका खुलासा किया है. 

इस पोस्ट के अनुसार टीजी ऐप लोकप्रिय सोशल मीडिया ऐप से संवेदनशील डाटा चुराने के लिए फोन में स्पाइवेयर इंस्टाल कर देता है. गूगल प्ले प्रोटेक्ट सिक्युरिटी की टीम को इस ऐप की जानकारी सितंबर 2017 में डिवाइस स्कैन के दौरान मिली. जानकारी मिलते ही कंपनी ने इस ऐप को प्ले स्टोर से हटा दिया और सभी प्रभावित डिवाइसों को इस बारे में सूचना भेजी. 

कंपनी ने इस ऐप के डेवल्पर के एकाउंट को निलंबित कर दिया है. टीजी के पहले वाले वर्जन में रूटिंग केपबिलिटी नहीं थी लेकिन बाद में ये आईं और इसने डिवाइसेज से संवेदनशील सूचनाएं चुरानी शुरू कर दी. हाल ही में गूगल ने भारत में स्कॉलरशिप प्रोग्राम की शुरुआत की. इसके लिए गूगल ने प्लूरलसाइट और उडासिटी के साथ साझेदारी की. कंपनी ने इस स्कॉलरशिप प्रोग्राम के तहत भारत में 130 हजार डेवेलपर और छात्रों को स्किल ट्रेनिंग देने का टार्गेट रखा है. 

शाओमी रेडमी Y1 और रेडमी Y1 Lite की सेल

प्रेग्नेंट लेडी के अल्ट्रासाउंड में दिखा कुछ ऐसा, डॉक्टर्स तक रह गए हैरान

सैमसंग ने स्मार्टवॉच और फिटनेस बैंड किया लॉन्च