भारत सरकार उठाए वीज़ा की परेशानियों की बात

Feb 02 2016 07:55 PM
भारत सरकार उठाए वीज़ा की परेशानियों की बात

मुंबई: लोकप्रिय अभिनेता अनुपम खेर को पाकिस्तान का वीज़ा न मिल पाने के कारण बवाल मच गया है। इस मामले में अभिनेता अनुपम खेर ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें साहित्य महोत्सव के लिए पाकिस्तान जाना था लेकिन वीज़ा की कुछ परेशानियां आईं, हालांकि यह वीज़ा मेरे द्वारा नहीं मांगा गया था। आयोजकों ने वीज़ा के लिए आवेदन किया था। जिसमें कुछ परेशानियां आईं और उन्हें वीज़ा नहीं मिल पाया। कई बार इस तरह की बातें होती हैं जब वीज़ा नहीं मिल पाता है। उल्लेखनीय है कि अनुपम को कराची में आयोजित होने वाले पाकिस्तान साहित्य महोत्सव में भागीदारी करने पहुंचना था। मगर वे जा नहीं पाए। पाकिस्तान का वीज़ा न मिलने के बाद अनुपम ने पत्रकारों से चर्चा की। 

उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि करीब 17 अन्य लोगों को वीज़ा मिला है। हालांकि उन्हें वीज़ा नहीं मिल पाया। अनुपम ने अपने दस्तावेज भी बताए। जिसमें वीज़ा मांगे जानने को लेकर जानकारी भी शामिल थी। उनका कहना था कि उन्हें दुख है कि उन्हें वीज़ा नहीं मिल पा रहा है। उनका कहना था कि उनकी पुस्तक इस साहित्य महोत्सव में प्रदर्शित होनी थी। यह किसी तरह की विरोधाभासी पुस्तक नहीं है। उन्होंने सम्मेलन की डायरेक्टर अमीना के प्रयासों को लेकर चर्चा की। 

अनुपम ने कहा कि संभवतः कश्मीरी पंडित होने के कारण उन्हें वीज़ा नहीं दिया गया तो कहीं न कहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में आना यह कमजोरी मानी जा सकती है। उन्होंने कहा कि उनकी ओर से तो 15 दिन से ही वीज़ा के दस्तावेज तैयार किए गए हैं। मगर यह सवाल है कि 18 दिन में उन्हें वीज़ा क्यों नहीं मिला है। अनुपम ने कहा कि यदि भारत और पाकिस्तान के बीच अच्छे संबंधों की बात कही जाती है तो फिर वीज़ा देने में क्यों इस तरह की बातें की जाती हैं। उन्होंने भारत सरकार से वीज़ा दिए जाने के मसले को उठाने की मांग भी की। हालांकि उन्होंने कहा कि वीज़ा नहीं मिलने से वे नाराज़ नहीं हैं मगर दुखी जरूर हैं।