कोरोना वायरस से लड़ने के लिए काम आएगी यह दवा

वॉशिंगटन: आज दिनों दिन बढ़ता जा रहा कोरोना का कहर इस कदर बढ़ चुका है कि लोगों में इसका खौफ कम होने का नाम होइ नहीं ले रहा है. वहीं हर दिन इस वायरस से लड़ने के लिए नए नए अध्यन भी किये जा रहे है. वहीं यह भी अनुमान लगाया जा रहा है कि जल्द ही कोरोना वायरस से निपटने का कोई न कोई नया इलाज मिल ही जाएगा. वहीं  नए कोरोना वायरस के लिए उपचार तलाशने की दिशा में हो रहे अध्ययनों के बीच ऑस्ट्रेलियाई शोधकर्ताओं को एक अहम सफलता मिली है. उन्होंने पाया कि एक आम एंटी-पैरासाइटिक या परजीवी रोधी दवा इस खतरनाक वायरस को खत्म कर सकती है. लैब में यह दवा महज 48 घंटे में कोरोना वायरस को मारने में प्रभावी पाई गई है. एंटी-पैरासाइटिक दवाएं परजीवी से होने वाली बीमारियों के इलाज में काम आती है.

मिली जानकारी के अनुसार एंटीवायरल रिसर्च ऑस्ट्रेलिया की मोनाश यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अध्ययन से जाहिर होता है कि इवरमेक्टिन दवा की एक खुराक कोशिका स्तर पर कोरोना वायरस की वृद्धि को रोक सकती है. परजीवी रोधी यह दवा एचआइवी, डेंगू, इंफ्लुएंजा और जीका वायरस के खिलाफ पहले ही प्रभावी पाई जा चुकी है. प्रमुख शोधकर्ता डॉ. केली वेजस्टाफ ने कहा, 'हमने पाया कि एक खुराक भी 48 घंटे के अंदर सभी वायरल आरएनए का सफाया कर सकती है. हालांकि इंसानों पर आजमाने से पहले अभी इसके और परीक्षणों की जरूरत है.' 

वाटर ट्रीटमेंट से खत्म हो सकता है कोविड-19: जंहा यह भी कहा जा रहा है कि शोधकर्ता कोरोना वायरस (कोविड-19) को खत्म करने में वाटर ट्रीटमेंट विधियों में संभावनाएं तलाश रहे हैं. उनका कहना है कि यह जानने के लिए अभी और जांच की जरूरत है कि क्या ये विधियां कोरोना का सफाया करने प्रभावी हो सकती हैं या नहीं? वहीं शोधकर्ताओं के अनुसार, कोविड-19 महामारी की वजह माने जाने वाले खतरनाक सार्स-कोवी-19 समेत कई कोरोना वायरस कई दिनों तक सीवेज और पेयजल में भी संक्रामक रह सकते हैं. ये वायरस वाष्पीकरण या स्प्रे के जरिये भी हवा में प्रवेश कर सकते हैं. अमेरिका की कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने कहा कि विकसित देशों की सरकारों को जल और सफाई व्यवस्थाओं को मजबूत करना चाहिए. यूनिवर्सिटी के केमिकल और इंवायरमेंटल इंजीनिय¨रग के एसोसिएट प्रोफेसर हैझोउ लियू ने कहा, 'कोरोना महामारी ने इस बात को रेखांकित किया है कि संक्रामक वायरस को नियंत्रित करने की तत्काल जरूरत है.' 

जानिए कब हुई विश्व स्वस्थ दिवस की स्थापना

जानें WORLD HEALTH DAY का महत्त्व

पाक में बढ़ता ही जा रहा कोरोना का खौफ, अब तक 41 की मौत और कई संक्रमित

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -