स्टूडेंट्स का दावा, JEE Main आंसर सीट में है कई गलतियां

Apr 23 2015 05:03 AM
स्टूडेंट्स का दावा, JEE Main आंसर सीट में है कई गलतियां
सीबीएसई जेईई मेन आंसर सीट को लेकर छात्रों और अध्यापकों ने कई तरह की विसंगतियों की शिकायत की है. जिन सवालों को सीबीएसई सही बता रहा है, वे छात्रों और टीचर्स की नजर में गलत बताए जा रहे हैं. गौरतलब है कि सेट छ के चार सवालों में विसंगतियां हैं. 

ये सवाल नंबर हैं - 22, 51, 53 और 57. अगर दावे सही हैं तो छात्रों को रिजल्ट में इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है. गौरतलब है कि परीक्षा निगेटिव मार्किंग होने के चलते एक गलत जवाब के लिए जहां किसी छात्र को एक सवाल की मार्किंग कम हो जाएगी वही सही जवाब के अंक भी काट लिए जाएंगे. 

कुछ छात्र और टीचर्स की नजर में इस सेट का प्रश्न 22 गलत है हालांकि सीबीएसई इसे सही बता रहा है. क्योकि सवाल नंबर 51 को सीबीएसई ने गलत घोषित किया है लेकिन आंसर सीट में इसे सही बताया गया है. 

किसी सवाल के विकल्पों में केवल एक उत्तर सही हो सकता है लेकिन, सवाल नंबर 53 में दिए गए उत्तर के विकल्पों में दो सही उत्तर हैं. 

जबकि सवाल नंबर 57 में सीबीएसई के मुताबिक़ केवल एक आंसर ही सही है, इसमें भी दो आंसर सही हैं. बता दें कि सवाल नंबर 57 को लेकर सीबीएसई ने अपनी गलती मानी और पहले ही बोनस अंक देने की घोषणा की थी. उधर, सीबीएसई प्रवक्ता रमा शर्मा ने कहा है कि कैंडिडेट अंसार सीट को ऑनलाइन चैलेंज कर सकते हैं. 

आंसर की चैलेंज करने की सभी जरूरी रिक्वायरमेंट डिटेल्ड हैं. इस साल करीब 13 लाख छात्रों ने जेईई की परीक्षा दी थी. बता दे कि 4,10 और 11 अप्रैल को हुई परीक्षा का आंसर की 18 अप्रैल को सीबीएसई ने ऑफिशियल साइट पर अपलोड किया था। आंसर की चैलेंज करने की लास्ट डेट 22 अप्रैल थी. 

सीबीएसई की इस व्यवस्था के तहत परीक्षा में शामिल हुआ कोई छात्र किसी सवाल को लेकर चुनौती कर सकता है. इसके लिए छात्रों को एक निश्चित राशि का भुगतान करना पड़ता है. आंसर सीट को चैलेंज करने के बाद अगर छात्र के दावे को सही पाया जाता है तो उसे सुधारने की व्यवस्था की गई है. 

गौरतलब है कि देशभर के इंजीनियरिंग संस्थानों में दाखिले के लिए जेईई मेन और एडवांस की परीक्षाएं हर साल आयोजित की जाती हैं. जेईई मेन का रिजल्ट 27 अप्रैल को घोषित किया जाएगा.