आर्थिक पैकेज: मजदूरों से लेकर कर्मचारियों तक, यहाँ देखें सरकार की बड़ी घोषणाएं

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी के 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा के बाद केंद्रीय वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज दूसरे दिन भी कई बड़े ऐलान किए. आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत आज स्ट्रीट वेंडर्स, प्रवासी श्रमिकों, छोटे किसानों के लिए घोषणाएं की गईं.  

-वित्त मंत्री ने कहा कि प्रवासी मजदूर जो वापस जा रहे हैं, उन्हें मनरेगा में काम देंगे.

-प्रवासी मजदूरों के राशन के लिए 3500 करोड़ रूपए का प्रावधान. 8 करोड़ श्रमिकों के लिए.

-अगले दो महीने तक हर प्रवासी श्रमिक को 5 किलो गेंहू-चावल, 1 ​किलो चना मिलेगा.

- वन नेशन, वन राशन कार्ड स्कीम लागू ​की जाएगी, देश के किसी भी कोने में ले सकेंगे राशन

-83 फीसदी राशनकार्ड धारकों को सीधा फायदा

-प्रवासी मजदूरों को मुफ्त राशन का कर्ज केंद्र उठाएगा.

-प्रवासी मजदूरों को कम किराए पर घर मुहैया कराया जाएगा

-न्यूनतम दैनिक मजदूरी बढ़ाकर 202 रुपए कर दी गई 

-राज्य को आपदा फंड के इस्तेमाल की अनुमति दी गई

-मनरेगा में प्रवासी मजदूरों का पंजीकरण जारी .

-सभी मजदूरों को न्यूनतम मजदूरी का लाभ देने की कोशिश, शेल्टर होम में बेघरों को मुफ्त 3 वक्त का भोजन दिया जा रहा है.

-सेल्फ हेल्प ग्रुप्स 3 करोड़ मास्क 11 लाख लीटर सैनिटाइजर का उत्पादन किया

-10 से कम कर्मचारियों वाली कंपनी को भी इएसआईसी के दायरे में लाया जाएगा. ऐसी कंपनियां वार्षिक हेल्थ चेकअप कराएं.

-असंगठित क्षेत्रों के लिए पूरे देश में न्यूनतम वेतन लागू किया जाएगा
 
-3 करोड़ किसानों को रियायती दरों पर लोन दिया गया. नाबार्ड, ग्रामीण बैंकों के जरिए 29500 करोड़ की सहायता की गई. 

-मार्च-अप्रैल में कृषि क्षेत्र को 86 हजार 600 करोड़ का लोन 
 
-मार्च-अप्रैल महीने में 63 लाख लोगों के लोन को मंजूरी

जानिए क्या है ईपीएफ में कटौती ?

इस महिला धावक ने फिर जीता लोगों का दिल, किया महान काम

अमेज़न के वर्षा वैन से फ़ैल सकती है अगली महामारी, शोधकर्ताओं ने किया सतर्क

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -