तमिलनाडु भाजपा में दरार की अटकलों के बीच अन्नामलाई ने तमिलिसाई सुंदरराजन से की मुलाकात, कही ये बात

तमिलनाडु भाजपा में दरार की अटकलों के बीच अन्नामलाई ने तमिलिसाई सुंदरराजन से की मुलाकात, कही ये बात
Share:

चेन्नई: तमिलनाडु भाजपा प्रमुख के अन्नामलाई ने शुक्रवार को पार्टी नेता और तेलंगाना की पूर्व राज्यपाल तमिलिसाई सुंदरराजन से चेन्नई में उनके आवास पर मुलाकात की। यह मुलाकात ऐसे समय में हुई है जब लोकसभा चुनाव में तमिलनाडु में पार्टी के खराब प्रदर्शन के बाद दोनों नेताओं के बीच मतभेद की अटकलें लगाई जा रही हैं। बैठक के बाद अन्नामलाई ने एक्स पर लिखा, "मुझे डॉ. तमिलिसाई सुंदरराजन से मिलकर खुशी हुई, जो वरिष्ठ नेताओं में से एक हैं और जिन्होंने पहले टीएन भाजपा के राज्य अध्यक्ष के रूप में अच्छा काम किया है। उनका राजनीतिक अनुभव और सलाह पार्टी के विकास को प्रेरित करती रहती है।"

लोकसभा चुनाव के बाद सुंदरराजन ने कहा कि अगर पार्टी AIADMK के साथ गठबंधन में होती तो तमिलनाडु में बेहतर प्रदर्शन कर सकती थी। उन्होंने AIADMK के एक नेता का खुलकर समर्थन किया, जिन्होंने आरोप लगाया था कि अन्नामलाई ही भाजपा-AIADMK के बीच अलगाव का कारण थे। उन्होंने 6 जून को कहा, "उन्होंने (वेलुमणि) जो कहा वह यथार्थवादी है। यदि भाजपा और एआईएडीएमके के बीच गठबंधन होता तो डीएमके सभी सीटें नहीं जीत पाती। यह चुनावी अंकगणित है। गठबंधन एक राजनीतिक रणनीति है... यह (वेलुमणि का दृष्टिकोण) यथार्थवादी है और इसे स्वीकार किया जाना चाहिए।"

किसी का नाम लिए बगैर तमिलसाई सुंदरराजन ने यह भी कहा कि भाजपा में “आपराधिक तत्व” मौजूद हैं। सितंबर 2023 में, AIADMK ने भाजपा के साथ अपने संबंध तोड़ लिए, और इसके पीछे एक कारण के अन्नामलाई की "AIADMK के पूर्व नेताओं के बारे में अनावश्यक टिप्पणी" बताया गया। 9 जून को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह एक मंच पर सुंदरराजन को डांटते हुए दिखाई दिए। अफ़वाह फैली कि वीडियो में, जो आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू के शपथ ग्रहण समारोह का था, अमित शाह अन्नामलाई के खिलाफ उनके कथित रुख के लिए सुंदरराजन को डांट रहे थे।

हालांकि, सुंदरराजन ने गुरुवार को इन्हें "अनुचित" अटकलें करार देते हुए कहा कि अमित शाह उन्हें राजनीतिक और निर्वाचन क्षेत्र के काम को गहनता से करने की सलाह दे रहे हैं। सुंदरराजन ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा कि, "कल, जब मैं 2024 के चुनावों के बाद पहली बार आंध्र प्रदेश में हमारे माननीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी से मिली, तो उन्होंने मुझे चुनाव के बाद की कार्रवाई और सामने आने वाली चुनौतियों के बारे में पूछने के लिए बुलाया। जैसा कि मैं विस्तार से बता रही थी, समय की कमी के कारण, अत्यंत चिंता के साथ, उन्होंने मुझे राजनीतिक और निर्वाचन क्षेत्र के काम को गहनता से करने की सलाह दी, जो आश्वस्त करने वाला था। यह सभी अनुचित अटकलों को स्पष्ट करने के लिए है

हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनावों में डीएमके ने तमिलनाडु की 39 सीटों में से 22 सीटें जीतने में सफलता पाई, जबकि उसकी सहयोगी कांग्रेस को नौ सीटें मिलीं। भाजपा और एआईएडीएमके दोनों ही राज्य में एक भी सीट नहीं जीत पाईं। दक्षिण चेन्नई लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने वाली सुंदरराजन को भी भारी हार का सामना करना पड़ा।

राम मंदिर का एक और विरोधी, जैश-ए-मोहम्मद बोला- इंशाल्लाह, इसे गिराना हमारी जिम्मेदारी

'भारत शांतिपूर्ण समाधान खोजना जारी रखेगा..', यूक्रेन के राष्ट्रपति से मिलकर बोले प्रधानमंत्री मोदी

भारत में बढ़ते बाजार को देखकर ग्लोबल एयरलाइंस ने देश में शुरू की नई फ्लाइट्स

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -