गुस्से में हवालदार ने प्‍लेटफॉर्म पर सरकारी बंदूक से चलाई गोली

ग्वालियर। प्रधान आरक्षक हीरालाल अहिरवार ने रात में जीआरपी थाने के बाहर प्लेटफॉर्म नंबर-1 पर सरकारी बंदूक से गोली चला कर दहशत फैला दी। गोली प्लेटफॉर्म की छत से टकराकर नीचे गिरी। इससे छत का प्लास्टर टूटकर एक यात्री पर गिरा जिसके कारण वह घायल हो गया। मामले को दबाने के लिए हवलदार के साथी सिपाही ने तुरंत चली हुई गोली उठाकर अपनी जेब में रख ली। जिस दौरान गोली चली उस समय काफी संख्या में यात्री प्लेटफॉर्म पर मौजूद थे। हवलदार अपने ट्रांसफर को लेकर तनाव में था इस कारण गोली चलना बताया गया है।

रविवार रात लगभग 10 बजे के आसपास प्लेटफार्म नंबर -1 पर काफी यात्री थे। मौके पर मौजूद बंटी राठौर व सुरेंद्र यादव निवासी बड़ागांव ने बताया कि जीआरपी थाने से प्रधान आरक्षक हीरालाल अहिरवार गुस्से में थाने से बाहर निकले। पहले उनकी बंदूक थाने के चैनल गेट से टकराई। इसके बाद थाने के गेट पर पर खड़े होकर बंदूक से फायर किया। गोली की आवाज से दहशत फैल गई और लोग इधर-उधर हो गए। बाद में हवलदार बंदूक सहित भाग निकला। गोली की आवाज सुनते ही पूरा थाना खाली हो गया केवल दो आरक्षक ही मौजूद थे।

सूत्रों के हवाले से पता चला की घटना के समय टीआई प्रकाश सेन भी थाने में थे, लेकिन वह थाने से उठकर बाहर निकल गए। घटना के बाद टीआई ने कहा की हवलदार अपने तबादले को लेकर तनाव में था जिस कारण से यह घटना हुई है। घटना के बाद सवाल यह भी उठ रहे है की एक जिम्मेदार पुलिस कर्मी भीड़ भरे इलाके में इस तरह से कदम उठता है तो उसका जिम्मेदार किसे माना जाएगा।

Most Popular

मुख्य समाचार

- Sponsored Advert -