कोरोना काल में दो पादरियों ने जुटाई 500 लोगों की भीड़, दर्ज हुआ केस

विशाखापत्तनम: आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले में दो पादरियों ने मिलकर कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन करते हुए 400-500 लोगों को जमा करके धार्मिक कार्यक्रम कर रहे थे, पुलिस ने अचानक छापा मारा और पादरियों पर केस दर्ज कर जुर्माना भरने के लिए कहा गया. बता दें कि आंध्र प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए मामलों के मद्देनज़र लॉक डाउन लागू किया गया है, पूर्ण निर्धारित कार्यक्रम करने के लिए तहसीलदार (MRO) से अनुमति लेकर 20 लोगों के साथ कोविड के नियमों का पालन करते हुए कर सकते हैं. किसी भी प्रकार की धार्मिक कार्यक्रम की भी इजाजत नहीं है.

सीताममापेट पुलिस स्टेशन के सब इंस्पेक्टर हैमावती के मुताबिक, सीताममापेट मंडल इलाके में रविवार को जनता कर्फ्यू भी लगाया गया था, ताकि सभी अपने अपने घरों तक ही सीमित रहें. इसके बाद भी रविवार को इतमानुगुड़ा पुटिकावलसा गांव में दो पादरियों ने मिलकर धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किया था, जिसमें कोरोना प्रोटोकॉल को ताक में रख कर 400-500 लोगों को बुलाया गया था, सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते हुए लोग बैठे हुए थे, उन्हें तो ये भी नहीं पता कि क्या हो रहा है.

इंस्पेक्टर हैमावती ने बताया कि सीताममापेट के तहशीलदार रमेश के आदेश के मुताबिक, वहां पहुंची तो दंग रह गई, दो पादरियों ने मिलकर इतने लोगों की जान खतरे डाल दी थी, किसी को भी कोरोना संक्रमण है तो आसानी से दूसरों को फैल सकता है. उनको फटकार लगाई और दोनों पादरियों को तहसीलदार के पास ले जाया गया, उन्होंने दोनों पर 50-50 हजार यानि कुल एक लाख का जुर्माना लगाते हुए दोनों के खिलाफ केस दर्ज करने का आदेश दिया.

महंगाई ने बिगाड़ा रसोई का ज़ायका, 11 साल में सबसे महंगा हुआ खाद्य तेल

पीएम मोदी ने वैक्सीन को बनाया निजी प्रचार का साधन, PM पर जमकर बरसी प्रियंका वाड्रा

आरबीआई गवर्नर ने निजी बैंकों से किया ये आग्रह

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -