आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट की स्लैब गिरी, 4 मजदुर जख्मी

अमरावती: निर्माणाधीन आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय परिसर में आज यानी शनिवार को अचानक स्लैब गिरने से 4 मजदूर जख्मी हो गए। घायल मजदूरों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दरअसल, औपचारिक तौर पर आंध्र प्रदेश के नए उच्च न्यायालय की शुरुआत हो गई है। किन्तु राजधानी में इसकी अस्थाई इमारत का काम अभी पूरा नहीं हो सका है।

पिछले सप्ताह के मुकाबले इस सप्ताह कुछ ऐसा रहा बाजार का हाल

विजयवाड़ा में सीएम नायडू के कैंप कार्यालय को ही वर्तमान में अस्थाई अदालत परिसर में तब्दील कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस एन वी रमन्ना ने सीएम एवं अन्य की मौजूदगी में अस्थाई परिसर का शुभारम्भ किया था। राज्य सरकारी के अधिकारियों के अनुसार, उच्च न्यायालय के अस्थाई परिसर का काम जनवरी के अंत तक पूरा हो जाएगा। हालांकि उच्च न्यायालय की स्थाई इमारत के निर्माण में अभी तीन वर्ष का वक़्त और लगेगा।

फरवरी में रिकॉर्ड स्तर तक बढ़ा जीएसटी का संग्रहण

आंध्र प्रदेश के बंटवारे और तेलंगाना प्रदेश के गठन के बाद से ही हैदराबाद स्थित हाई कोर्ट, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना दोनों राज्यों के लिए साझा हाई कोर्ट के रूप में काम कर रहा था। उच्च न्यायालय के जजों के शपथ ग्रहण के बाद आंध्र प्रदेश के सीएम एन. चंद्रबाबू नायडू ने इसे एक 'ऐतिहासिक दिन' करार दिया  था। नायडू ने कहा है कि,'मैं इसको लेकर बेहद खुश हूं कि प्रदेश में आज विधिक प्रशासन शुरू हो रहा है। हाई कोर्ट के शुरू होने से राज्य के विभाजन की प्रक्रिया पूरी हो गई, हालांकि कुछ परिसम्पत्तियों का वितरण अब भी बाकी है।'

खबरें और भी:-

इस तरह कमाएं 1 लाख रु हर माह, नेशनल इंस्टीट्यूट में करें अप्लाई

मूडीज का दावा, 2019, 2020 में 7.3 % रहेगी भारत की आर्थिक वृद्धि दर

वीडियोकॉन मामला: चंदा कोचर और वेणुगोपाल के घर-दफ्तर पर ईडी का छापा

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -