प्रवासी मजदूरों को इस तरह मदद पहुंचा रही है आंध्र प्रदेश सरकार

देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान आंध्र प्रदेश सरकार शेल्टर होम में रह रहे प्रवासियों को आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ती करवा रहा है. बता दें कि 21 दिनों के लॉकडाउन के चलते कई लोगों को राज्य के विभिन्न शेल्टर होम में रखा गया है. राज्य अधिकारी खाना और पानी जैसी चीजें पहुंचाने के अलावा अन्य आवश्यक वस्तुएं जैसे कपड़े, टूथपेस्ट, साबुन, शैंपू, ब्लैंकेट और जैसी चीजें उपलब्ध करवा रहे हैं

तेलंगाना सरकार का बड़ा ऐलान, इन नौकरशाहों को मिलेगा वेतन के साथ इंसेंटिव

इस मामले को लेकर स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या पिछले 12 घंटों में बढ़कर 131 हो गई है, वहीं देशभर में अब तक कुल 1965 मामलों की पुष्टि हो चुकी है. इनमें से 1764 का इलाज चल रहा है, वहीं 151 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि 50 लोगों को अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है और 50 लोगों की यहां मृत्यु हो गई है.

हौंडा जैज़ नए अपडेटेड मॉडल का टीज़र हुआ आउट, मिलेंगे ज्यादा आकर्षक फीचर्स

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि RSS ने आंध्र प्रदेश के विजयनगरम जिले के एक गांव में गरीब जरूरतमंदों को खाना उपलब्ध करवा रहे हैं. देश में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों और जारी लॉकडाउन को देखते हुए आरएसएस कार्यकर्ता गरीब जरूरतमंद और घर से बेघर लोगों को भोजन परोसने में लगे हुए हैं. विजयनगरम जिले के गजपति नगरम मंडल में बंधापल्ली गांव के आरएसएस कार्यकर्ता स्थानीय सरकारी अस्पताल में गरीबों जरूरतमंदों और बेघर हैं जो सड़कों पर भटक रहे हैं को भोजन उपलब्ध करा रहे हैं. आरएसएस की टीम ने कहा कि वे एक दिन में कम से कम 100 लोगों को खाना मुहैया कराएंगे जब तक कि तालाबंदी जारी नहीं रहती.

कोरोना ने तोड़ी एविएशन कंपनी की कमर, एयर इंडिया ने 200 पायलट को किया सस्पेंड

अब भारत में मिलेगा सबसे स्वच्छ पेट्रोल और डीज़ल, प्रदूषण कम करने में मिलेगी मदद

तब्लीगी जमात में पहुंचे थे महाराष्ट्र के 1400 लोग, 1300 को किया गया क्वारंटाइन

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -