आंध्र प्रदेश सरकार पर भाजपा ने लगाया आरोप, कहा- 'मीडिया की आवाज को दबाने की कोशिश...'

हैदराबाद (तेलंगाना): हाल ही में आंध्र प्रदेश के जगन मोहन रेड्डी सरकार पर भाजपा ने एक बड़ा आरोप लगाया है. जी दरअसल भाजपा का आरोप है कि वो राज्य में मीडिया की आवाज को दबाने की कोशिश करने में लगी हुई है. हाल ही में भाजपा नेता लंका दिनकर ने कहा कि, 'राज्य में कोरोना महामारी को लेकर रिपोर्टिंग कर रहे मीडिया संस्थानों के खिलाफ केस दर्ज करके उनकी आवाज को राज्य सरकार द्वार दबाया जा रहा है.'

इसी के साथ दिनकर ने यह भी कहा कि, "YSRCP सरकार प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया हाउस के खिलाफ मामले दर्ज करके संविधान के अनुच्छेद 19 और 21 में दिए गए भाषण और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार का उल्लंघन कर रही है. वे जनता के हित में समाचारों को कवर करते रहे हैं, खासतौर से जब तब कोरोनो वायरस के मामले औसतन प्रति दिन 10,000 से पार हो गए हों." बताया जा रहा है इस दौरान भाजपा नेता ने कोरोना के कारण एक हेडमास्टर की मौत से जुड़ा एक वीडियो टीवी चैनल द्वारा दिखाए जाने पर, उसके खिलाफ केस दर्ज करने के मामले के बारे में भी बात की.

जी दरअसल इस दौरान उन्होंने कहा, "हाल ही में नेल्लोर जिले के जेडपी स्कूल के कोरोना संक्रमित हेडमास्टर ने सरकार से अपील करते हुए अपनी दयनीय स्थिति का एक वीडिया जारी किया था. इस वीडियो को बाद में एक टीवी चैनल समेत अन्य मीडिया हाउस द्वारा भी दिखाया गया. इसके बाद राज्य सरकार ने न्यूज रीडर और एमडी पर निशाना साधते हुए केस फाइल किया." इसी के साथ उन्होंने आगे यह भी कहा, "क्या यह मीडिया के साथ व्यवहार करने का सही तरीका है? उसी मीडिया चैनल को कुछ महीने पहले चैनल के एक मॉडरेटर और अध्यक्ष के खिलाफ मामला दर्ज करके निशाना बनाया गया था, हालांकि उच्च न्यायालय ने सरकार के कृत्यों पर सवाल उठाया था. जगन मोहन रेड्डी सरकार असंवैधानिक रूप से कार्य कर रही है."

'कसौटी जिंदगी की 2' फैन के लिए सामने आई बुरी खबर, इस एक्टर ने लिया शो को छोड़ने का फैसला

सितंबर से शुरू हो सकती है आंध्र प्रदेश इंटरमीडिएट में दाखिले की प्रक्रिया

केरल प्लेन क्रैश: विमान दुर्घटना में जांच समिति 5 माह में देगी रिपोर्ट, बरामद किए गए सामानों के 298 टुकड़े

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -