अग्रणी मियावाकी तकनीकों का उपयोग करके किया जा रहा है एक शहरी जंगल विकसित

त्रिची: डालमियापुरम में डालमिया सीमेंट प्लांट के स्थान पर नगर पालिका द्वारा मियावाकी वन की स्थापना एवं रख-रखाव किया जा रहा है। कल्लाकुडी नगर पालिका को मुख्यमंत्री एमके स्टालिन द्वारा सर्वश्रेष्ठ नगर पालिका का पुरस्कार मिला है। मियावाकी के जंगल पूरी तरह से जैविक हैं। जापानी वनस्पतिशास्त्री डॉ. अकीरा मियावाकी द्वारा अग्रणी मियावाकी तकनीक का उपयोग करके शहरी जंगल विकसित किया जा रहा है, जिसमें क्षेत्र-विशिष्ट देशी प्रजातियों को एक-दूसरे के करीब लगाया जाता है ताकि वे तेजी से बढ़ सकें और पर्यावरण की रक्षा कर सकें।

वही इस तकनीक से लगाए गए पौधे 10 गुना तेजी से बढ़ते हैं और उनमें 100 गुना अधिक जैव विविधता होती है। कचरे को एकत्र कर प्राकृतिक खाद बनाया जाता है। इस संबंध में सरकार द्वारा प्रदान की गई ठोस अपशिष्ट प्रबंधन योजना के माध्यम से कचरा संग्रहण के लिए बैटरी ऑटो प्रदान किया गया है जिसकी अनुमानित लागत रु. 1,20,000 है। हालांकि इस ऑटो को रोजाना 5 घंटे चार्ज करना पड़ता है।

सफाई कर्मचारियों के लिए इसे आसान बनाने के लिए, वर्तमान नगरपालिका कार्यकारी अधिकारी, ज़कुल हमीद ने बिजली बचाने पर ध्यान केंद्रित किया और 60,000 रुपये में बैटरी वाहन को सौर पैनलों से सुसज्जित किया। इससे बिजली की लागत बचती है और समय की बर्बादी नहीं होती है।

नाबालिग बेटी की मांग में सिन्दूर देख आगबबूला हुई माँ, उठाया ये खौफनाक कदम

बिजली उत्पादकों ने MPPMCL से किया 2,433 करोड़ रुपये का बकाया राशि तत्काल जारी करने का आग्रह

दलित युवक को पेशाब पीने पर मजबूर करने वाला SI अर्जुन कर्नाटक से गिरफ्तार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -