जब महिला की आखिरी इच्छा बन गई पालतू कुत्ते की जान की दुश्मन

जब महिला की आखिरी इच्छा बन गई पालतू कुत्ते की जान की दुश्मन

ये तो सुना है कि मरने वाले की आखिरी इच्छा पूरी की जाती है. लेकिन अगर यही आपके लिए मुसीबत बन जाये. अंतिम इच्छाओं में कई तो बेहद अजीब होती हैं. आज हम आपके लिए वर्जिनिया की एक ऐसी ही घटना की जानकारी लेकर आए हैं जिसमें एक लड़की की आखरी खवाहिश उसके पालतू कुत्ते की मौत का कारण बनी हैं. आइये जानते हैं उसके बारे में. 

हम आपके लिए वर्जिनिया की एक ऐसी ही घटना की जानकारी लेकर आए हैं जिसमें एक लड़की की आखरी खवाहिश उसके पालतू कुत्ते की मौत का कारण बनी हैं. वर्जिनिया में एक महिला के पास एमा नाम का कुत्ता था और दोनों अच्छे से गुजर-बसर कर रहे थे. लेकिन जब महिला की मौत हुई तो उसने अपनी आखिरी इच्छा जताई थी कि उसके साथ उसके कुत्ते को भी दफना दिया जाए. हालांकि कुत्ता एकदम स्वस्थ जी रहा था. इसके पीछे भी कारण हैं.

इसके बाद पशु प्रेमी संस्थाओं ने कुत्ते के अधिकार की लड़ाई लड़नी शुरू की. उनका कहना था कि जब कुत्ता स्वस्थ जी रहा है तो इसे महिला के साथ दफनाने के लिए क्यों मारना चाहिए. पर वर्जिनिया का कानून बिल्कुल अलग है. यूरोप के कई देशों में कुत्ते को निजी संपत्ति माना जाता है. इस वजह से मालिक जो चाहे वो कुत्ते के साथ कर सकता है और इसी कारण कानून के मुताबिक मालिक को ये अधिकार है कि उसके मरने के बाद कुत्ते को भी दफनाया जा सकता है. 

जब अदालत में खुद को साबित करने आईं गाय, जज को कुर्सी छोड़ आना पड़ा बाहर

साईकिल से दुनिया घूमने निकला शख्स, कर डाला सबसे अनोखा कारनामा

कुत्ता समझ कर इस जानवर को पाल रही थी, जानकर उड़े होश