हरियाणा : नहीं होगी आर्थिक दिक्कत, समय पर खाते में पहुंच जाएगा वेतन

भारत के राज्य हरियाणा को कोरोना से बचाने के लिए क्षेत्र में उतरे शहरी स्थानीय निकाय के सभी कर्मचारियों के वेतन से जुड़ी समस्या को हल करने के लिए सरकार ने 300 करोड़ रुपये की राशि जारी कर दी है. सरकार का कहना है कि कि हमारे सभी कर्मचारी हमारे लिए सर्वप्रिय हैं. इस महामारी में कार्यरत कर्मचारियों को किसी भी तरह की आर्थिक दिक्कत नहीं आने दी जाएगी. उनके खाते में समय पर वेतन पहुंचाया जाएगा.

डॉक्टरों और नर्सों के साथ हो रही बदसूलुकी, स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने बोली यह बात

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि मंत्री अनिल विज ने सभी अधिकारियों को आदेश किए हैं कि दूसरों की सुरक्षा करने से पहले सभी कर्मचारी स्वयं को सुरक्षित करें. इसके लिए उन्हें सुरक्षा के लिए मास्क, ग्लब्स सहित अन्य सुविधाएं प्रदान की जाएं. इसके साथ ही 31 मार्च को रिटायर होने वाले कर्मचारियों की सेवाएं भी एक महीने के लिए बढ़ा दी गई हैं.

लॉकडाउन के कारण गई नौकरी, तो रेस्टोरेंट कर्मचारी ने कर ली ख़ुदकुशी

अपने बयान में गृहमंत्री अनिल विज ने बताया कि कोरोना की रोकथाम के लिए सभी नगर निगमों के आयुक्तों और उपायुक्तों को पालिकाओं की देखरेख के लिए 18 तालमेल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं. सभी उच्च अधिकारियों का क्षेत्र में हो रही गतिविधियों पर निगरानी के लिए वाटसएप ग्रुप बनाया गया है. सभी बस अड्डों, रेलवे स्टेशनों, सरकारी कार्यालयों सहित सभी क्षेत्रों में सेनिटाइजेशन करवाया जा रहा है. इसके लिए प्रदेश के सभी 87 पालिकाओं में 22440 सफाई कर्मचारी कार्यरत है.

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राहत कोष में दी पांच महीने की सैलरी

लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर ऋषिकेश में तीन लोग गिरफ्तार

Uttarakhand : पीएसी जवानों को ऋषिकेश के आश्रम में रहने के लिए किया मना

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -