चर्च में फायरिंग के मुख्य अपराधी कांग्रेस नेता रणदीप सिंह गिल हुए गिरफ्तार

अमृतसर: जिला पुलिस ने गिलवाली गेट उपस्थित एक चर्च में गोलीबारी करने के केस में मुख्य अपराधी कांग्रेसी नेता रणदीप सिंह गिल समेत तीन व्यक्तियों को हिरासत में लिया गया है। सीआईए स्टाफ की टीम ने होशियारपुर के टांडा के समीप इन अपराधियों को पकड़ा। हमले में रणदीप सिंह गिल ने सात-आठ अन्य व्यक्तियों के साथ चर्च में घुसकर अंधाधुंध गोलीबारी कर प्रिंस नामक युवक का मर्डर कर दिया था।

वहीं प्रिंस के भाई मनोज को गंभीर तौर पर घायल कर दिया था। पुलिस के अनुसार, गिल एवं उसके साथियों ने चर्च में 15 से 20 राउंड फायरिंग की थीं। पकड़े गए अपराधियों में रणदीप का भाई बलराम सिंह गिल तथा उनका प्राइवेट सेक्रेटरी सूरज सम्मिलित हैं। अपराधियों के कब्जे से एक राइफल, एक रिवाल्वर, इनोवा तथा मोबाइल जब्त हुए हैं।

रणदीप सिंह गिल का आपराधिक रिकॉर्ड:
12 अगस्त 2003 : सी डिवीजन पुलिस ने पिस्तौल दिखाने तथा मारपीट का केस दायर किया था।
29 मई 2008 : सी डिवीजन पुलिस ने हत्या के प्रयास तथा मारपीट का केस दायर किया था।
31 मार्च 2014 : तरनतारन सिटी पुलिस ने धोखाधड़ी, वसूली तथा षड़यंत्र रचने के दोष में मामला दर्ज किया था।
25 अगस्त 2016 : रामबाग पुलिस ने मारपीट तथा वसूली करने का केस दायर किया था।
 
बलराम सिंह गिल का आपराधिक रिकॉर्ड
13 मार्च 2018 : बी डिवीजन पुलिस ने फर्जी दस्तावेजों पर धोखाधड़ी करने का केस दायर किया था।
28 अगस्त 2019 : महिला थाने की पुलिस ने दहेज प्रताड़ना के दोष में केस दायर किया था।

मधुबनी में गरजे नितीश, बोले- लालटेन का युग ख़त्म हो चुका, अब हर कोई बिजली इस्तेमाल कर रहा

अस्पताल के शौचालय में मिला कोरोना संक्रमित मरीज का शव, 14 दिनों तक सड़ती रही लाश

लुधियाना की फैक्ट्री में धमाका, 3 मजदुर घायल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -