पाकिस्तान चुनाव में छाए अमिताभ और माधुरी

Jul 24 2018 12:50 PM
पाकिस्तान चुनाव में छाए अमिताभ और माधुरी

इस्लामाबाद: 25 जुलाई को पाकिस्तान में आम चुनाव होने जा रहे हैं, इस कारण पाकिस्तान की तमाम सियासी पार्टियां, आवाम को अपने पक्ष में लुभाने के लिए जुटी हुई हैं. साथ ही इसके लिए तरह-तरह के अनूठे प्रचार भी किए जा रहे हैं. हर बार पाकिस्तान के चुनाव में भारत का अहम् रोल रहता है, पाकिस्तानी सियासत के उम्मीदवार हर बार भारत विरोध जताकर, जनता को अपने पक्ष में करते रहे हैं, चाहे फिर वो सीमा का मुद्दा हो या कश्मीर का, लेकिन इस बार पाकिस्तान में भारत के फिल्म कलाकार से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी छाए हुए हैं.

लो अब हाफिज सईद के बेटे को भी आतंकियों से खतरा

इसी का एक उदहारण देखने को मिला है, इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के एक प्रत्‍याशी के पोस्‍टर में, मुल्‍तान से खड़े पीटीआई प्रत्‍याशी अब्‍बास डागर के चुनावी पोस्टर में अमिताभ बच्चन और माधुरी दीक्षित की तस्वीर लगाई हुई है. बताया जा रहा है कि अब्बास खुद इन फिल्म हस्तियों के बड़े फैन हैं, इसीलिए उन्होंने अपने चनावी पोस्टर पर उन्हें भी शामिल कर लिया है, गौरतलब है कि इमरान खान की पार्टी का चुनाव चिन्ह बैट है.

इमरान खान को चुनाव आयोग की चेतावनी

वहीँ अपनी विदेश निति के चलते पीएम नरेंद्र मोदी पाकिस्तानी सियासत के पैर का काँटा बने हुए हैं, आपको बता दें कि पाकिस्तान में आतंकवाद को ख़त्म करने के लिए जो दबाव भारत और अमेरिका ने पाकिस्तान पर बनाया है, उस कारण से पाक और उसकी सरजमीं पर पल रहे आतंकी आका बौखला गए हैं. वहीँ जमात उद दावा और लश्कर ए तोइबा जैसे आतंकी संगठनों का मुखिया हाफ़िज़ सईद भी इस बार चुनावी मैदान में है, उसने अपनी राजनितिक पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग से 200 से ज्यादा उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारे हैं, वो भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी को कोस वोट मांग रहे हैं. भीड़ को संबोधित करते हुए हाफिज सईद पाकिस्तानी जनता को बता रहा है कि मोदी सरकार कश्मीर में नदियों पर बांध बनाकर पाकिस्तान का पानी रोक रही है, वह पाकिस्तानी अवाम से अपील कर रहा है कि उन लोगों को वोट दो जो पाकिस्तानी नदियों पर भारत को बांध बनाने से रोक सकें. 

खबरें और भी:-

पाक में चुनाव प्रचार ख़त्म, इमरान और नवाज़ में काटे की टक्कर

नवाज की हालत गंभीर होने पर भी अस्पताल में भर्ती नहीं करा रहा प्रशासन

पाक चुनाव में शरीफ ने किये लच्छेदार वादे

 

?