अमित शाह ने दिखाई 'मोदी वैन' को हरी झंडी, जानें इसकी खूबियां

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज यानी मंगलवार को 'सेवा ही संगठन' कार्यक्रम के तहत 'मोदी वैन' को हरी झंडी दिखा दी है। आप सभी को बता दें कि PM मोदी के सरकार में 20 साल पूरे हो गए हैं और इसी मौके पर भाजपा ने इस मिशन की शुरूआत की है। आप सभी को बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सात अक्टूबर, 2001 को पहली बार मुख्यमंत्री बने थे। वहीं अगर हम मोदी वैन के बारे में बात करें तो कोशांबी विकास परिषद से इसे संचालित किया जाएगा, और इसे भाजपा के राष्ट्रीय सचिव विनोद सोनकर चला रहे हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार एक मशहूर वेबसाइट से बात करते हुए सोनकर ने कहा, 'उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले के पांच विधानसभा क्षेत्रों में पांच मोदी वैन का संचालन किया जाएगा। वैन के लिए एक नियंत्रण कार्यालय है। इसे इन नियंत्रण कार्यालयों से संचालित किया जाएगा।'

क्या खास है मोदी वैन में- आपको बता दें कि वैन में 32 इंच का टेलीविजन और एक हाई-स्पीड इंटरनेट सेवा लगाई गई है जिसके द्वारा पीएम मोदी के मासिक रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' का प्रसारण किया जाएगा। इसी के साथ जनसभाओं और नेताओं के भाषणों का भी प्रसारण किया जाएगा। इसी के साथ वैन में टेलीमेडिसिन भी शामिल होगा। वहीं वैन में एक ऐसी मशीन लगी है जो एक बार में 39 रक्त नमूनों की जांच कर सकती है। इसी के साथ वैन एक साप्ताहिक मेडिकल बुलेटिन भी जारी करेगी और यह वैन गांव के लोगों को स्वच्छता और प्लास्टिक मुक्त करने की शपथ दिलाएगी। वहीं गांव के जल संरक्षण और नदी तालाब की सफाई के लिए भी लोगों को इसी वैन के माध्यम से जागरुक किया जाएगा।

कहा जा रहा है मोदी वैन सुदूर गांव में कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण को बढ़ावा देने में मदद करेगी। जी दरअसल वैन में लगी मशीनें दूर-दराज के गांव में टेलीमेडिसिन और पार्टी द्वारा नियुक्त स्वास्थ्य स्वयंसेवकों की मदद से ग्रामीणों को नुस्खे मुहैया करा सकती हैं। इसी के साथ वैन केंद्र की कई योजनाओं के तहत मजदूरों और विभिन्न वर्गों के लोगों के पंजीकरण में मदद करेगी। इसके अलावा वैन विधवा पेंशन, विकलांगता पेंशन और पीएम किसान सम्मान निधि के तहत शत-प्रतिशत पंजीकरण में मदद करेगी और ग्रामीणों को सरकारी योजनाओं के बारे में भी बताएगी।

उत्‍तराखंड में कुदरत का कहर, रिजॉर्ट में घुसा कोसी नदी का पानी-फंसे 100 लोग

इन कर्मचारियों को दिवाली से पहले मिलेगा 30 दिन का बोनस, मोदी सरकार ने किया ऐलान

जिस 'चावल' की खीर खाकर भगवान बुद्ध ने तोड़ा था उपवास, वह पीएम-राष्ट्रपति को उपहार में मिलेगा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -