लोकसभा चुनाव: अमित शाह ने खोला राज, आखिर क्यों लड़ना चाहते हैं चुनाव

लोकसभा चुनाव: अमित शाह ने खोला राज, आखिर क्यों लड़ना चाहते हैं चुनाव

गांधीनगर: गुजरात के गांधीनगर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को बताया है कि आखिर वे क्यों लोकसभा चुनाव लड़ना चाहते थे? नामांकन दायर करने से पहले जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा है कि आपके आशीर्वाद से मैं राज्यसभा का मेंबर हूं. मगर मैं राज्यसभा का सदस्य उस समय बना जब लोकसभा के चुनाव नहीं हो रहे थे. मैं जनता के बीच में रहने वाला इंसान हूं. पार्टी ने मुझे लोकसभा लड़ने की इजाजत दी. इसके लिए पार्टी का धन्यवाद्.

लोकसभा चुनाव: पीएम का विपक्ष पर वार, कहा - जिस बात पर देश को गर्व होता है, उसपर इन्हे दुःख होता है

अमित शाह ने जनसभा में भावुक पल गिनाते हुए कहा है कि 1982 के वो दिन याद आते हैं एक बूथ कार्यकर्ता के रूप में मैंने राजनीति में कदम रखा था. पर्चे बांटते-बांटते आज भाजपा इस मुकाम तक पहुंची है कि विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बन चुकी है. उन्होंने कहा है कि बगैर भाजपा मेरे जीवन में केवल शून्य बचेगा. आडवाणी जी, अटल जी और पुरुषोत्तम जी के इलाके से सांसद का चुनाव लड़ना मेरा सौभाग्य है. उन्होंने कहा है कि वे इसी क्षेत्र से 5 बार विधायक रहे थे. 

यूपी के इस मंत्री ने बताया कांग्रेस को जुमलेबाजी में उस्ताद

अमित शाह ने कहा है कि जो मुख्यमंत्री बनने से पहले गांव का प्रधान भी नहीं बन पाया था, वो नरेंद्र मोदी आज प्रधानमंत्री के कामकाज से पूरे राष्ट्र का लाडला बन चुका है. देश एक बार फिर अपने लाडले को प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठते देखना चाहता है. गुजरात की आवाम से अपील करते हुए अमित शाह ने कहा है कि राज्य की सभी 26 सीटें भाजपा की झोली में डालकर फिर एक बार मोदी जी को पीएम बनाएं.

खबरें और भी:-

लोकसभा चुनाव: हेमा मालिनी बोलीं, पीएम मोदी के अलावा किसी और के हाथ में सत्ता आना खतरनाक

लोकसभा चुनाव: सपा के हाथ से फिसल जाएगा गुर्जर वोट बैंक, आज भाजपा में शामिल होगा ये कद्दावर नेता

अमेरिका ने की भारत की तारीफ, कहा वेनेज़ुएला मामले में मिल रहा सहयोग