जम्मू कश्मीर में बढ़ते आतंकी हमलों पर अमित शाह ने ली बैठक, तीनों सेनाओं के प्रमुख रहे मौजूद

जम्मू कश्मीर में बढ़ते आतंकी हमलों पर अमित शाह ने ली बैठक, तीनों सेनाओं के प्रमुख रहे मौजूद
Share:

श्रीनगर: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर में हाल ही में हुए आतंकी हमलों के बाद सुरक्षा स्थिति पर चर्चा के लिए रविवार को दिल्ली में एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई। मामले से परिचित सूत्रों के अनुसार, बैठक के दौरान शाह आतंकवाद विरोधी अभियानों को मजबूत करने के उद्देश्य से व्यापक निर्देशों की रूपरेखा तैयार कर सकते हैं।

बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे, सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, खुफिया ब्यूरो के निदेशक तपन डेका, सीआरपीएफ के महानिदेशक अनीश दयाल सिंह, जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक आरआर स्वैन और अन्य वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारी शामिल हुए। गृह मंत्री ने 29 जून से शुरू होने वाली आगामी वार्षिक अमरनाथ तीर्थयात्रा की तैयारियों का भी निरीक्षण किया।

रिपोर्ट के अनुसार, शाह को जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा परिदृश्य के बारे में जानकारी दी गई, जिसमें अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा पर सेना की तैनाती, घुसपैठ की गतिविधियाँ, चल रहे आतंकवाद विरोधी अभियान और केंद्र शासित प्रदेश में आतंकवादी तत्वों की मौजूदगी शामिल है। हाल के दिनों में, जम्मू-कश्मीर के रियासी, कठुआ और डोडा जिलों में आतंकवादी घटनाएँ हुईं, जिसके परिणामस्वरूप नौ तीर्थयात्री और एक सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए, जबकि कई सुरक्षाकर्मी और नागरिक घायल हो गए।

इसके अलावा, कठुआ जिले में एक मुठभेड़ में दो संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकवादियों को मार गिराया गया, जिनके पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया। ये घटनाक्रम वार्षिक अमरनाथ तीर्थयात्रा के शुरू होने से पहले हुए हैं, जिसमें दक्षिण कश्मीर हिमालय में स्थित गुफा मंदिर में सैकड़ों हज़ारों श्रद्धालु आते हैं। पिछले साल, 4.28 लाख से ज़्यादा तीर्थयात्रियों ने तीर्थस्थल का दौरा किया था, और इस साल और भी ज़्यादा संख्या में तीर्थयात्रियों के आने की उम्मीद है।

तीर्थयात्रियों की सुरक्षा के लिए कड़े कदम उठाए जा रहे हैं, जिसमें वास्तविक समय की ट्रैकिंग के लिए आरएफआईडी कार्ड जारी करना, प्रत्येक तीर्थयात्री के लिए 5 लाख रुपये और उनके साथ आने वाले जानवरों के लिए 50,000 रुपये का बीमा कवरेज शामिल है। शाह ने हवाई अड्डों और रेलवे स्टेशनों से तीर्थस्थल आधार शिविर तक निर्बाध परिवहन व्यवस्था के महत्व पर जोर दिया, साथ ही सभी तीर्थयात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित की।

शाकाहारी बच्चों को जबरन परोसा जा रहा मांसाहारी भोजन ! बंगाल में स्कूल के बाहर जुटे अभिभावक, भजन गाकर किया विरोध

तमिलनाडु में खुदाई के दौरान मिला चोल साम्राज्य का ऐतिहासिक भंडार, जमीन से निकली ये वस्तुएं

महज दो दिन में हो जाती है मौत ! इस देश में तेजी से फ़ैल रहा 'मांस खाने वाला बैक्टीरिया'

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -