आपातकाल को लेकर अमित शाह ने कांग्रेस पर कसा तंज

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 47 साल पहले घोषित आपातकाल को लेकर शनिवार को कांग्रेस पर हमला बोला और दावा किया कि इस पुरानी पार्टी ने सत्ता के बदले में रातोंरात हर भारतीय के संवैधानिक अधिकारों को छीन लिया। मौजूदा "आंतरिक अशांति" के कारण, 25 जून, 1975 को आधी रात को आपातकाल घोषित किया गया था। गृहमंत्री ने ट्विटर पर उन सभी देशभक्तों की प्रशंसा की जिन्होंने लोकतंत्र को बहाल करने और तानाशाही मानसिकता को हराने के लिए अपना सब कुछ दे दिया है।

Koo App
सुप्रीम कोर्ट ने सभी आरोपों को खारिज किया है, ये आरोप राजनीति से प्रेरित है, इस निर्णय ने ये भी सिद्ध कर दिया है। 18-19 साल की लड़ाई, देश का इतना बड़ा नेता एक शब्द बोले बगैर सभी दुखों को भगवान शंकर के विषपान की तरह गले में उतारकर सहन कर लड़ता रहा। : केंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह - BJP MadhyaPradesh (@BJP4MP) 25 June 2022

1975 में आज ही के दिन, कांग्रेस ने सत्ता के बदले में हर भारतीय के संवैधानिक अधिकारों को छीन लिया, आपातकाल की घोषणा की, और क्रूरता से विदेशी शासन को बदल दिया। मैं उन सभी देशभक्तों को सलाम करता हूं जिन्होंने लोकतंत्र को बहाल करने और तानाशाही मानसिकता को हराने के लिए अपना सब कुछ दे दिया है, "शाह ने एक ट्वीट में कहा। 

इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 1975 के आपातकाल को भारतीय इतिहास का एक 'काला अध्याय' बताया जिसे कभी नहीं भूलना चाहिए और उन्होंने सभी भारतीयों से संविधान और इसके संस्थानों की रक्षा करने का संकल्प लेने का आग्रह किया। 47 साल पहले भारत में आपातकाल की घोषणा देश के इतिहास में एक काला अध्याय है जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। इस दिन, सभी भारतीयों को न केवल लोकतंत्र की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध होना चाहिए, बल्कि संविधान और इसके संस्थानों की गरिमा को बनाए रखने का संकल्प भी लेना चाहिए "सिंह ने एक ट्वीट में यह कहा।

 

बेटे से छुपकर 53 वर्षीय मां ने किया ऐसा काम, जिसने सुना वो रह गया दंग

'4 साल क्या, 4 दिन के लिए भी सेना में जाने को तैयार हैं..', युवाओं में 'अग्निपथ' को लेकर जबरदस्त उत्साह

'अग्निपथ योजना' के विरोध में बंद हुआ था इंटरनेट, अब कंपनी ने उठाया ये बड़ा कदम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -