अमेरिका ने ईरान को दिखाया आइना, कहा - आप औरतों को पत्थर मारते हैं

अमेरिका ने ईरान को दिखाया आइना, कहा - आप औरतों को पत्थर मारते हैं

वाशिंगटन: एक ओर अमेरिका के मिनीपोलिस में अश्वेत अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में हुई मौत को लेकर हिंसक विरोध प्रदर्शन चल रहा है. वहीं दूसरी ओर अमेरिकी विदेश मंत्री और ईरानी विदेश मंत्री जवाद जरीफ के बीच ट्विटर पर जुबानी जंग शुरू हो गई है. ईरान के विदेश मंत्री ने मिनीपोलिस की घटना पर हमला बोलते हुए लिखा कि कुछ लोगों के लिए अश्वेत लोगों का कोई महत्व ही नहीं है, जिनके लिए यह मायने रखता है उन्हें काफी समय से चल रहे इस जातीय पक्षपात के खिलाफ लड़ना होगा. यही समय है जब पूरी दुनिया इसके खिलाफ खड़ी हो.

इसके जवाब में अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ट्वीट करते हुए लिखा कि, आपके देश में समलैंगिकों को फांसी दे दी जाती है, औरतों को पत्थर मारे जाते हैं और यहूदियों का विनाश किया जाता है. उल्लेखनीय है कि सोमवार को अमेरिका में पुलिस हिरासत में जॉर्ज फ्लॉयड नाम के एक अश्वेत व्यक्ति की मौत हो गई थी. हालांकि इससे संबंधित एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें अश्वेत शख्स की पुलिस द्वारा हत्या दर्शाई गई है. इसी हत्या के विरोध में हजारों लोग मिनीपोलिस में कर्फ्यू का उल्लंघन करते हुए विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. 

अशांति का नया दौर मिनेसोटा के गवर्नर टिम वाल्ज के शुक्रवार को दिए उस बयान के बाद आरंभ हुआ जब उन्होंने कहा था कि वह पहले की तुलना में कहीं अधिक सख्त कार्रवाई करेंगे. हालांकि जॉर्ज फ्लॉयड के क़त्ल के आरोपी श्वेत अधिकारी के खिलाफ शुक्रवार सुबह केस दर्ज किया गया जिसने नौ मिनट तक अश्वेत व्यक्ति फ्लॉयड के गले को घुटनों से दबाया था. इसके बाद भी लोगों का गुस्सा ठंडा नहीं हो रहा है. अधिकारी डेरेक चाउविन (44) पर थर्ड डिग्री हत्या और मानव वध का केस दर्ज किया गया है.

 

कोरोना महामारी के बीच पाकिस्तान ने शुरू की इंटरनेशनल फ्लाइट्स

चीन में इस साल के अंत तक आ सकती है कोरोना की वैक्सीन, मनुष्यों पर ट्रायल शुरू

कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने के लिए दिन रात एक कर रही यह भारतीय महिला