इसलिए रूस ने इज़रायल को लेकर देरी से की वोटिंग

संयुक्तराष्ट्र। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार माइकल फ्लिन मानते हैं कि, यूएन में इज़रायल को लेकर आए एक प्रस्ताव पर मतदान के कार्य में रूस के मत को,उन्होंने प्रभावित किया था। दरअसल, उन्होंने रूस को इस तरह के प्रस्ताव पर मतदान करने में देर करने के लिए कहा था। मिली जानकारी के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र में इजरायल के विरूद्ध मिले प्रस्ताव पर मतदान में देरी करने के लिए कहा गया।

फ्लिन और मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से सलाहकार जेयर्ड कुशनर ने दूसरे देशों को अमेरिका के पक्ष में लेने के प्रयास किए थे। उक्त विवादित क्षेत्र में इजरायल की बस्तियों को हटाए जाने को लेकर, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मतदान किया गया था। मिली जानकारी के अनुसार, मतदान से कुछ समय पूर्व फ्लिकन ने उरूगवे व मलेशिया के प्रतिनिधियों से इस मामले में चर्चा की थी।

दूसरी ओर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सलाहकार जेयर्ड कुशनर ने कई अन्य देशों को भी अमेरिका के पक्ष में लेने का प्रयास किया था। विवादित क्षेत्र में इजरायली बस्तियों को हटाने को लेकर, गत वर्ष 23 दिसम्बर को 15 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मतदान हुआ था।

राजनयिकों ने अपनी पहचान को गुप्त रखने की शर्त पर कहा कि, मतदान से कुछ समय पूर्व फ्लिन ने उरूग्वे व मलेशिया के प्रतिनिधियों से चर्चा की। कुशनर ने अमेरिका में ब्रिटेन के राजदूत किम डोरोच से चर्चा की थी। ट्रंप ने अमेरिकी प्रशासन से इस प्रस्ताव पर वीटो लगाने की अपील की थी।

मिसाइल का बदला, मिसाइल

ट्रंप ने निकाली ब्रिटिश पीएम मे पर भड़ास

हाफिज सईद की रिहाई से अमेरिका आग-बबूला

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -