इस चुनाव को हल्के में नहीं लिया जा सकता, क्योंकि इसमें बहुत कुछ दावं पर है

वॉशिंगटन: अमेरिका में राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्द्धा को देखते हुए व्हाइट हाउस ने कहा है कि इस चुनाव में इतना कुछ दाव पर लगा है कि इसे हल्के में नहीं लिया जा सकता. व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट ने कल कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव को हल्के में नहीं लिया जा सकता।

अर्नेस्ट ने कहा कि प्रत्येक चार वर्ष में चुनाव में होने का अर्थ है कि इस बीच अमेरिकी जनता के पास पर्याप्त समय होता है कि वह आंक सके कि कौन देश का नेतृत्व करने के लिए बेहतर है और कौन वास्तव में मुक्त दुनिया का नेतृत्व करने वाला है।

रिपब्लिकन पार्टी के संभावित उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी की संभावित उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के बीच कड़ी प्रतिस्पर्द्धा पर अर्नेस्ट ने कहा कि इऩ चुनावों में बहुत कुछ दाव पर है. राष्ट्रपति बराक ओबामा मानते है कि इसका परिणाम बेहद रोमांचक होगा।

राष्ट्रपति यह तर्क रखते रहेंगे कि उनके बाद आने वाला व्यक्ति पिछले सात या आठ वर्षों में हमारे द्वारा की गई प्रगति को आगे ले जाने के लिए प्रतिबद्ध हो. प्रेस सचिव ने कहा कि वास्तव में, ये चुनाव इतने अहम हैं कि राष्ट्रपति उम्मीद करते हैं कि गर्मियों में और शरद ऋतु में वह अपने समय का एक खास हिस्सा चुनाव से जुड़ी बहसों में लगाएं।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -