डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग मामले में विपक्ष गर्म, वोटर्स को विश्वास में लेना किया प्रारंभ

डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग मामले में विपक्ष गर्म, वोटर्स को विश्वास में लेना किया प्रारंभ

दुनिया के ताकतवर देश अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग का मामला चल रहा है. वहीं, गुरुवार को एक पूर्ण पक्षपातपूर्ण प्रदर्शन हुआ. गुरुवार को अमेरिकी सांसदों ने ट्रंप के खिलाफ महाभियोग को आगे बढ़ाने के लिए वोट के लिए नारा लगाया था. रिपब्लिक ऑन हाउस ज्यूडिशियरी कमेटी ने राष्ट्रपति और उनके समर्थकों हमले के रूप में आरोप लगाते हुए इस प्रक्रिया की कटु आलोचना की, जबकि डेमोक्रेट्स ने महाभियोग के लेख को खारिज करने के अपने विरोधियों के प्रयासों को खारिज कर दिया.

यह है हॉलीवुड की सबसे अधिक समय वाली फिल्म, गिनीज बुक में दर्ज है नाम

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार डेमोक्रेट्स ने 9 दिसंबर को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग के मामले में अपना पक्ष रखते हुए उन्हें राष्ट्रीय सुरक्षा के खिलाफ स्पष्ट खतरा बताया. वहीं, रेपब्लिकन ने आरोपं को खारिज करते हुए इसे राजनीति के प्रेरित करार दिया. गौरतलब है कि ट्रंप पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन समेत अपने प्रतिद्वंद्वियों की छवि खराब करने के लिए यूक्रेन से गैरकानूनी तरीके से मदद मांगी थी.

हजारों लोगो की भीड़ पार्क में जमा हुई, आंदोलन के हिंसक स्वरूप में तब्दील होने...

अपने बयान में राष्‍ट्रपति ट्रंप ने कहा था अगर यूक्रेन उनके मुताबिक जांच शुरू करता है तो अमेरिका उसे 40 करोड़ डॉलर की सैन्‍य मदद करेगा और ट्रंप यूक्रेन के राष्टपति से व्हाइट हाउस में मुलाक़ात करेंगे. विपक्ष डेमोक्रेट्स कहना है कि एक कमज़ोर अमरीकी सहयोगी पर दबाव डालना सत्ता का दुरुपयोग है. फोन पर हुई इस बातचीत में राष्ट्रपति ट्रंप ने यूक्रेन के राष्ट्रपति से कथित तौर पर राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के संभावित उम्मीदवार और उनके बेटे हंटर बाइडेन के खिलाफ जांच करने के लिए कहा था. हंटर बाइडेन यूक्रेन की एक ऊर्जा कंपनी के बोर्ड सदस्‍य बने थे , जब उनके पिता यानी जो बाइडेन अमरीका के उपराष्ट्रपति थे.

लाहौर: अस्पताल के बाहर वकीलों का हिंसक प्रदर्शन, समय पर उपचार ना मिलने से तीन लोगों की मौत

चीन के विश्वास को पहुंचा नुकसान, इस देश ने विरोध में किया बड़ा काम

मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद को जल्द मिल सकती है सजा, अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने डाला दबाव