आखिरों क्यों दक्षिण कोरिया से मदद मांगने पहुंचा अमेरिका ?

आखिरों क्यों दक्षिण कोरिया से मदद मांगने पहुंचा अमेरिका ?

दुनिया के ताकतवर देश अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने दक्षिण कोरिया से नॉवेल कोरोना वायरस के लिए टेस्‍ट किट की मांग की है. दक्षिण कोरिया के राष्‍ट्रपति मून जे-इन ने बुधवार को जानकारी दी. नए कोरोना वायरस के चपेट में दुनिया भर के 195 देश आ चुके हैं. सबसे पहले यह वायरस चीन के वुहान शहर में आया. चीन के बाद इटली में इस महामारी ने अव्‍यवस्‍था और तबाही फैलाई और अब तीसरे नंबर पर अमेरिका है.

नीचता पर उतरा पाक, साजिश के तहत PoK में शिफ्ट किए 200 'कोरोना' मरीज

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इस महामारी के चपेट में चीन के बाद दक्षिण कोरिया का ही नंबर था. यहां कोरोना वायरस ने खूब तबाही मचाई लेकिन यहां कि टेस्‍टिंग व अन्‍य प्रयासों के कारण यह नियंत्रण में आ गया. मंगलवार मध्‍यरात्रि तक दक्षिण कोरिया में 367,000 से अधिक लोगों की जांच की गई. यह प्रक्रिया उन लोगों के लिए मुफ्त में उपलब्‍ध कराई जा रही है जो डॉक्‍टरों द्वारा रेफर किए गए हैं और जो टेस्‍ट में पॉजिटिव पाए गए हैं.

कोरोना: पाक के 7 मौतों में मचा हाहाकार, संक्रमित लोगों की संख्या एक हज़ार

वायरस के संक्र​मण के लिहाज से दुनिया भर के देशों में चीन और इटली के बाद अमेरिका तीसरे स्‍थान पर है जहां कुल 55,000 मामलों की पुष्‍टि की गई. ट्रंप ने टेस्‍ट किट के लिए आग्रह करते हुए कहा है कि अमेरिका में स्‍वास्‍थ्‍य संकट अब खत्‍म होना शुरू हो गया है. सियोल में टेस्‍ट डेवलपर के पास गए मून ने कहा, ‘अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने हमसे आग्रह किया है कि क्‍वारंटाइन आइटमों जैसे डायगनोस्‍टिक किट आदि को तत्‍काल तौर पर मुहैया कराया जाए.

कोरोना वायरस : शाही परिवार को लगा तगड़ा झटका, इस सदस्य की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

​​इन एयर होस्टेस के बल पर कोरोना वायरस से बचकर वापस लौटे 263 भारतीय

सऊदी अरब में कोरोना से पहली मौत, 300 से अधिक संक्रमित